वाजपेयी की बात अलग थी, मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी से गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

वाजपेयी की बात अलग थी, मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी से गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर http://bit.ly/2EG1SuE
वाजपेयी की बात अलग थी, मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी से गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता
एमके स्टालिन की फाइल फोटो
News18Hindi
Updated: January 11, 2019, 2:39 PM IST
डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने शुक्रवार को यह बात साफ कर दी है कि वो बीजेपी के साथ कभी भी गठबंधन नहीं करेंगे क्योंकि बीजेपी ने राज्यों के अधिकारों को कुचल दिया है. उन्होंने कहा कि वो कभी बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं करेंगे क्योंकि नरेंद्र मोदी, अटल बिहारी वाजपेयी नहीं हैं.

इससे पहले बीजेपी कार्यकर्ताओं से बात करते हुए मोदी ने कहा कि पार्टी नए सहयोगी बनाना चाहती है और जो अभी साथ हैं उनसे संबंध और अच्छे करना चाहती है. उन्होंने कहा कि यहां तक कि जब बीजेपी ने अपने दम पर बहुमत प्राप्त किया तब भी हमने सहयोगी पार्टियों के साथ मिलकर सरकार चलाने की कोशिश की.

ये भी पढ़ेंः शक्ति प्रदर्शन से पहले बोले अलागिरी- स्टालिन को DMK चीफ बनने की बेसब्री, मुझे नहीं

 हालांकि, 2019 लोकसभा चुनाव के पहले दोस्ती का प्रस्ताव ठुकराते हुए स्टालिन ने कहा कि पीएम मोदी ने राज्य के अधिकारों को कुचल दिया है. उन्होंने कहा कि यह बहुत बड़ी विडंबना है कि मोदी अपनी तुलना वाजपेयी से करते हैं. डीएमके ने अटल बिहारी वाजपेयी के समय में बीजेपी के साथ सिर्फ इसलिए गठबंधन किया था क्योंकि वो बांटने वाली राजनीति नहीं करते थे.



स्टालिन ने 16 दिसंबर को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को देश का अगला प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लेते हुए केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को हराने के लिए उनकी काबिलियत की तारीफ की थी. उन्होंने कहा था, ‘2018 में, थलाईवर कलैगनार की प्रतिमा के अनावरण के मौके पर मैं प्रस्ताव देता हूं कि हम दिल्ली में नया प्रधानमंत्री बनाएंगे. हम नया भारत बनाएंगे. थलाईवर कलैगनार के पुत्र के नाते मै तमिलनाडु की ओर से राहुल गांधी का नाम प्रधानमंत्री पद के लिए प्रस्तावित करता हूं.'

ये भी पढ़ेंः किसी भी हंगामे के सामने झुकने वाला नहीं हूं: स्टालिन

Loading...

और भी देखें

Updated: January 11, 2019 12:00 PM ISTसंजय बारु को क्यों भरोसे का शख्स मानते थे मनमोहन सिंह?