यहां बिकने के लिए खड़े रहते हैं मर्द, लगती है मंडी... - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

यहां बिकने के लिए खड़े रहते हैं मर्द, लगती है मंडी...

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर http://bit.ly/2EG1SuE
दिल्ली में मर्दों के जिस्म का कारोबार बड़ी तेजी से पनप रहा है। यहां के कई प्रमुख वीवीआईपी इलाकों की मार्केट में मर्दो की बाजार रात 10 बजे से सुबह के 4 बजे तक सजती है। इस मंडी को 'जिगोलो मार्केट' कहते है। राजधानी के सरोजनी नगर, लाजपत नगर, पालिका मार्केट और कमला नगर मार्केट समेत कई इलाकों में रात होते ही मर्दों की जिस्म फरोशी के धंधे की मार्केट सज जाती है।दिल्ली के इस मार्केट में सभ्रांत परिवार की महिलाएं आकर मर्दों की बोली लगाती है।
इस जिगोलो मार्केट में खुलेआम युवा अपने जिस्म का सौदा करते हैं। रात के साये में जब राजधानी की सड़कें सुनसान होती हैं तब यहां इनका बाजार सजता है। खास बात ये है कि युवा जिस्म की खरीददार उन घरानों या इलाकों की महिलाएं होती हैं जिन्हें आम बोलचाल में संभ्रांत कहा जाता है और इनके इलाकों को पॉश।
जिगोलों को बुक करने का काम हाईफाई क्लब, पब और कॉफी हाउस में भी होता है। कुछ घंटों के लिए जिगोलो की बुकिंग 1800 से 3000 हजार रुपए और पूरी रात के लिए 8000 रुपये तक में होती है। इसके अलावा युवाओं के गठीले और सिक्स पैक ऐब्स के हिसाब से 15 हजार रूपए तक कीमत दी जाती है।
युवाओं के जिस्म के सौदेबाजी कि कमाई का 20 प्रतिशत हिस्सा इन्हें अपनी संस्था को देना होता है, जिनसे ये जुड़े हुए हैं। कारोबार को दिल्ली के कई युवा अपना प्रोफेशन बना चुके हैं तो कई अपनी लक्जरी जरूरतों की पूर्ति के लिए इस दलदल में फंस रहे हैं। इनमें इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी करने वाले छात्र सबसे ज्यादा हैं।
युवा जिस्म का यह बाजार रात 10 बजे से सुबह 4 बजे के बीच सजता है। युवा पॉश इलाकों और साऊथ एक्सटेंसन, जेएनयू रोड, आईएनए, अंसल प्लाजा, कनॉट प्लेस, जनकपुरी डिस्ट्रिक सेंटर जैसे प्रमुख बाजारों की मुख्य सड़कों पर खड़े हो जाते हैं। यहां गाड़ी रुकती है, जिगोलो बैठता है और सौदा तय होते ही गाड़ी चल देती है। रुमाल और गले के पट्टे पर होती है डिमांड जिगोलो की डिमांड उसके गले में बंधे पट्टे पर निर्भर करती है। आप सुनकर दंग रह जाएंगे कि गले में बंधा पट्टा जिगोलो के लिंग की लंबाई दर्शाता है।
इसके आलावा यह धंधा साउथ दिल्ली के कई जाने-माने होटलों में भी जमकर फलफूल रहा है। मगर यहां जिगोलो की पहचान गले में पहने पटटे से नहीं बल्कि ड्रेस से होती है। दरअसल साउथ दिल्ली के कई होटलों में जिगोलो के हाथ में लाल रुमाल और गले में पटटे की बजाय काली पतलून और सफ़ेद शर्ट पहचान होती है। सूत्रों के मुताबिक जिगोलो इन होटलों के रेस्तरां में बैठकर काफी की चुस्कियां लेते हुए अपने ग्राहक की तलाश करते है।