EXCLUSIVE: तीन महीने से ठप पड़ा है रेलवे के सबसे बड़े प्रोजेक्ट का काम - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

EXCLUSIVE: तीन महीने से ठप पड़ा है रेलवे के सबसे बड़े प्रोजेक्ट का काम

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर http://bit.ly/2EG1SuE
EXCLUSIVE: तीन महीने से ठप पड़ा है रेलवे के सबसे बड़े प्रोजेक्ट का काम
चिनाब नदी पर बन रहा ब्रिज आईफिल टॉवर से भी ऊंचा है.
Chandan Kumar | News18Hindi
Updated: February 7, 2019, 3:12 PM IST
भारतीय रेल के चिनाब रेल ब्रिज़ पर पर निर्माण का काम 3 महीने से ठप पड़ा है. इस ब्रिज़ को रेलवे के इतिहास का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट माना जाता है. जम्मू में चिनाब नदी पर रेलवे 1.3 किलोमीटर यानी 1300 मीटर लंबा एक रेल पुल बना रहा है. यह एक आर्क ब्रिज़ है और इसकी ऊंचाई नदी तल से 359 मीटर ऊपर है. इस तरह से यह दुनिया का सबसे ऊंचा आर्क ब्रिज़ है और इसकी ऊंचाई पेरिस के एफिल टॉवर से भी अधिक है. इसकी देखरेख का काम कोंकण रेलवे को दिया गया है जबकि इसका ठेका निज़ी कंपनी AFCON के पास है.

सूत्रों के मुताबिक चिनाब पुल के आर्क पर जो पेंटिंग होनी है उसकी क्वालिटी को लेकर निज़ी कंपनी और कोंकण रेलवे के बीच सहमति नहीं बन पायी है. दरअसल इस ब्रिज़ पर ऐसी पेंटिंग लगाई जानी है जो इलाके के विपरीत मौसम में ब्रिज़ को कम से कम 15 साल के लिए ज़ंग से बचा सके.

आज नहीं अब 15 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिखाएंगे वंदेभारत एक्‍सप्रेस को हरी झंडी


इसके अलावा ब्रिज़ में लगने वाले नए किस्म के भारी-भरकम बोल्ट्स और स्टील के प्लेट्स/ स्ट्रक्चर को लगाने के लिए निज़ी कंपनी नए रेट की मांग कर रही है क्योंकि पुराने समझौते में इनका ज़िक्र नहीं था. लेकिन रेलवे और निज़ी कंपनी में इसपर कोई समझौता नहीं हो पाया है जिसकी वजह से बीते 25 अक्टूबर 2018 से इस ब्रिज़ पर आर्क लगाने का मुख्य काम रुका हुआ है. कंपनी से जुड़े एक अधिकारी का कहना है कि नए रेट पर समझौता रेलवे और कंपनी के बीच होना है.

चिनाब नदी पर बन रहा यह पुल हिमालय के दुर्गम इलाके में बनाया जा रहा है. यहां अंग्रेज़ तक नहीं पहुंच पाए थे इस लिहाज से यह रेलवे की अति महत्वाकांक्षी परियोजना है. यह पुल कटरा-बनिहाल रेल खंड के बीच में है जो रेलवे के उधमपुर-श्रीनगर-बारामुला रेल लाइन का हिस्सा है.

कई और रेलवे स्टेशनों के बदले जाएंगे नाम, क्या आपका शहर भी इस लिस्ट में?

1250 करोड़ रुपये की लागत से बन रहे इस पुल को पिछले साल के टार्गेट से लिहाज से जून 2019 तक पूरा हो जाना था लेकिन बाद में इसे दिसंबर 2019 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया. इस बीच कंस्ट्रक्शन का काम कर रही कंपनी को उम्मीद है कि कंपनी और रेलवे को बीच नया समझौता जल्द ही पूरा हो जाएगा. ज़ाहिर है ब्रिज़ के निर्माण में जिस तरह की रुकावट आ रही है उससे इसका निर्माण इस साल भी पूरा होने पर संदेह खड़ा हो गया है.

Loading...


एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

Loading...

और भी देखें

Updated: February 07, 2019 04:00 PM ISTVIDEO- इस रेस्ट्रॉन्ट में वेटर की जगह रोबोट परोसते हैं खाना