Jet Airways को खरीद सकती हैं दुबई की रॉयल सफर कराने वाली ये कंपनी! - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

Jet Airways को खरीद सकती हैं दुबई की रॉयल सफर कराने वाली ये कंपनी!

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर http://bit.ly/2EG1SuE
Jet Airways को खरीद सकती हैं दुबई की रॉयल सफर कराने वाली ये कंपनी!
दुनिया में सबसे महंगा हवाई सफर कराने वाली कंपनी Jet Airways को खरीदने के तैयारी में
News18Hindi
Updated: April 11, 2019, 7:32 PM IST
संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की बड़ी एविएशन कंपनी एतिहाद एयरवेज दुनिया में महंगी हवाई यात्राओं के लिए जान जाती है. अब ये कंपनी जेट एयरवेज में अपने हिस्सेदारी बढ़ाकर 49 फीसदी करने की तैयारी में है. आपको बता दें कि  जेट एयरवेज की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है. कंपनी ने मुंबई-सिंगापुर आने जाने वाली सभी उड़ानें रोक दी है. वहीं, जेट एयरवेज के हिस्सा बिक्री के नीलामी की तारीख बढ़ाकर 12 अप्रैल कर दी गई है. अब तक कोई बोली लगाने वाला सामने नहीं आया है. दूसरी तरफ डीजीसीए ने 7 विमानों का रजिस्ट्रेशन भी रद्द कर दिया है. इंडियन ऑयल ने जेट को ईंधन की सप्लाई भी रोक दी है.

साल 2016 में एतिहाद ने भारत के लिए शुरू की रॉयल सर्विस- विश्व की सबसे बडी यात्री विमानन कंपनी की उड़ान अबुधाबी लंदन, सिडनी और न्यूयार्क के बाद इसने मुंबई को A-380 विमान का चौथा गंतव्य बनाया हुआ है. इस फ्लाइट में कई सारी सुविधाएं दी गई हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस फ्लाइट में सफर दुनिया की सबसे महंगी हवाई यात्राओं में से एक है. इसमें मुंबई से न्‍यूयॉर्क का एक तरफ का किराया करीब 28 लाख रुपये बैठता है.

न्‍यूयॉर्क से मुंबई की फ्लाइट के लिए एयरबस A380 का इस्‍तेमाल किया जाएगा. इसमें 496 यात्री बैठ सकते हैं. इस फ्लाइट में रेजीडेंस नाम की सुविधा भी होगी. इसमें दो लोगों के लिए लग्‍जरी सुइट, शोअर रूम, बेड रूम और लिविंग रूम भी होगा. यह फ्लाइट रोजाना उड़ेगी. आबूधाबी और लंदन इस फ्लाइट के ठहराव स्‍थल होंगे.

अब क्या हुआ-एतिहाद एयरवेज, निजी इक्विटी फर्म टीपीजी और नैशनल इन्वेस्टमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड (एनआईआईएफ) संकट में फंसी विमानन कंपनी जेट एयरवेज को दिवालिया होने से बचाने के लिए बोली में हिस्सा लेने की तैयारी में है.

एतिहाद ने जेट में निवेश करने को लेकर भारतीय स्टेट बैंक के साथ चर्चा की थी और उसकी मांग थी कि कंपनी से गोयल को हटाया जाए और निवेश की स्थिति में उसे खुली पेशकश से छूट दी जाए. हालांकि एतिहाद को खुली पेशकश से छूट नहीं मिली. जेट में एतिहाद की 24 फीसदी हिस्सेदारी है. हालांकि कंपनी ने इसे अटकलें बता कर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. जेट को फिर से पटरी पर लाने के लिए लिए पहले एनआईआईएफ से संपर्क किया गया था. टीपीजी ने भी पहले जेट के लॉयल्टी कार्यक्रम को खरीदने की इच्छा जताई थी. हालांकि टीपीजी ने भी जेट के लिए बोली लगाने के बारे में कुछ कहने से मना कर दिया.

Loading...


 

मीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक, नया निवेशक एविशन कंपनी में बड़ी हिस्सेदारी हासिल करना चाहता है, क्योंकि एक-तिहाई हिस्सेदारी के साथ विमानन कंपनी को पुनर्गठन कैसे किया जा सकता है. मान लीजिए  लिए रणनीतिक निवेशक का नेेटवर्थ पिछले वित्त वर्ष में कम से कम 1,000 करोड़ रुपये होना चाहिए या भारत में निवेश या संपत्ति 1,000 करोड़ रुपये या वाणिज्यिक विमानन कारोबार में कम से कम तीन साल का अनुभव होना चाहिए. कंसोर्टियम में अधिकतम तीन सदस्य हो सकते हैं. कंसोर्टियम के सदस्य के पास समूह में 15 फीसदी और प्रमुख साझेदार के पास कम से कम 26 फीसदी हिस्सेदारी होनी चाहिए.

Loading...

और भी देखें