WhatsApp पर आने वाले फर्जी खबरों और अफवाहों पर इन 7 तरीकों से करें कंट्रोल - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

WhatsApp पर आने वाले फर्जी खबरों और अफवाहों पर इन 7 तरीकों से करें कंट्रोल

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर http://bit.ly/2EG1SuE
जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे-वैसे वॉट्सऐप पर फर्जी खबरें बढ़ती जा रही हैं. इसलिए जरूरी है कि हम ऐसे फर्जी खबरों और अफवाहों से सावधान रहें. इसके लिए वॉट्सऐप ने भी कई गाइडलाइन्स जारी की हैं जिसके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं.

फ़ोटो और वीडियो पर जल्द ही यकीन न करें
फ़ोटो, ऑडियो और वीडियो आपको बहकाने के लिए भी भेजे जाते हैं, उनमें दिखाया गया हमेशा सच नहीं होता. अगर खबर सच्ची होगी तो अवश्य ही किसी न्यूज़ चैनल या रेडियो पर भी दिखाई या सुनाई जाएगी, इसलिए खबर की सच्चाई का पता लगाएँ. जब एक खबर कई जगह छपती है, को उसके सच होने की संभावनाएँ बढ़ जाती हैं.

थोडे अलग दिखने वाले संदेशों से सावधान रहें

आपको मिलने वाले संदेशों या वेबसाइट्स के लिंक में अगर गलत स्पैलिंग होती है तो उनमें शामिल खबर झूठी होती है. इन संकेतों को देखें ताकि आप पता लगा सकें कि जानकारी सही है या नहीं.

ये भी पढ़ेंः इंस्टाग्राम अकाउंट डिलीट होने पर फूट-फूट कर रोई लड़की, देखें पूरा वीडियो

किसी भी बात पर जल्द विश्वास न करें

Loading...


ऐसी जानकारी से बचें जो आपकी पूर्ववर्ती मान्यताओं की कन्फ़र्म करती है और किसी भी जानकारी को शेयर करने से पहले फैक्ट्स की अच्छे से जाँच कर लें. वे बातें जिनपर यकीन करना थोड़ा मुश्किल होता है वे अक्सर झूठी होती हैं.

अफ़वाहें जल्दी फैलती हैं
ऐसा ज़रूरी नहीं है कि अगर संदेश कई बार शेयर किया जाए तो वह सच हो, कई बार अफ़वाहें ज़्यादा फ़ैलती हैं. सिर्फ़ इसलिए संदेश फ़ॉरवर्ड न करें क्योंकि संदेश भेजने वाला आपसे संदेश को शेयर करने के लिए बार-बार कह रहा है, सोच-समझकर संदेश को फ़ॉरवर्ड करें.

खबर के सच होने का पता लगाएँ
अगर आपको यकीन न हो कि संदेश में मौजूद जानकारी सच है या झूठ, तो ऐसे में तथ्यों की जाँच करें और न्यूज़ पर खबर के सच होने की जाँच करें. अगर आपको फिर भी यकीन न हो कि संदेश में मौजूद जानकारी सच है या झूठ, तो ऐसे में उन लोगों से पता करें जिन पर आपको भरोसा है.

ये भी पढ़ेंः Xiaomi फैंस के लिए खुशखबरी, जल्द सेल में मिलेगा Redmi Note 7 Pro का नया वेरिएंट

अफ़वाहों को फैलने से रोकें
अगर आपको किसी ने ऐसा संदेश भेजा है जो आपको लगे कि सच नहीं है, तो जिसने आपको वह संदेश भेजा है उससे संदेश के सच होने का प्रमाण माँगें और अगर वह आपको संदेश के सच होने का प्रमाण न दे सकें तो उन्हें ऐसे संदेश भेजने से मना करें. अगर कोई ग्रुप में या कोई व्यक्ति बार-बार अफ़वाहें या झूठी खबरें भेजता है, तो उसकी रिपोर्ट करें.

नोट: अगर आपको लगता है कि आप या कोई अन्य व्यक्ति किसी भी प्रकार के खतरे में है, तो कृपया अपने पास के पुलिस स्टेशन या किसी भी प्रकार के कानून प्रवर्तन से संपर्क करें, ऐसी परिस्थितियों में वे आपकी बेहतर रूप से मदद कर सकते हैं.

ये भी पढ़ेंः लॉन्च हुआ दुनिया का पहला कलाई में बांधने वाला स्मार्टफोन, जानें कीमत