चुनाव मैदान में है पति-पत्नी का यह जोड़ा, क्या संसद में मिलेगी एक साथ एंट्री? - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

चुनाव मैदान में है पति-पत्नी का यह जोड़ा, क्या संसद में मिलेगी एक साथ एंट्री?

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर http://bit.ly/2EG1SuE
लोकसभा चुनाव 2019 अब अपने आखिरी चरण की ओर बढ़ रहा है. आखिरी और सातवें चरण के लिए 19 मई, रविवार को देश की 59 सीटों पर मतदान होगा. इन 59 सीटों में पंजाब की सभी 13 सीटें शामिल हैं. ये सीटें है- (गुरदासपुर, अमृतसर, खडूर साहिब, जालंधर, होशियारपुर, आनंदपुर साहिब, लुधियाना, फतेहगढ़ साहिब, फरीदकोट, फिरोजपुर, बठिंडा, संगरूर और पटियाला.

यूं तो सभी सीटों पर बड़े नेताओं की इज्जत दांव पर है, लेकिन फिरोजपुर और बठिंडा लोकसभा सीट पर सबकी नजरें लगी हुई हैं. इन दो सीटों पर पति-पत्नी की एक खास जोड़ी चुनाव मैदान में हैं. ये जोड़ी है सुखबीर सिंह बादल और हरसिमरत कौर की. सुखबीर सिंह बादल फिरोजपुर से चुनाव मैदान में हैं तो मोदी सरकार में मंत्री हरसिमरत कौर बठिंडा से चुनाव लड़ रही हैं. पंजाब में यह पति-पत्नी का अकेला जोड़ा है, जो चुनाव लड़ रहा है. अब सबकी नजरें इस बात पर लगी हैं कि क्या इन दोनों को संसद में भी एक साथ एंट्री मिलेगी.

हैट्रिक पर हरसिमरत की नजर
हरसिमरत कौर पहली बार 2009 में बठिंडा सीट से चुनाव जीती थीं. 2014 में भी उन्हें जीत मिली और मोदी सरकार में खाद्य प्रसंस्करण मंत्री का पद मिला. वैसे दोनों बार उनका मुकाबला कांटेदार हुआ. 2014 में उन्होंने अकाली दल छोड़कर आए अपने देवर और पूर्व वित्त मंत्री मनप्रीत बादल को करीब 19,000 वोटों से हराया था. वहीं 2009 में उनका मुकाबला पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रनिंदर सिंह से हुआ था. अब तीसरी बार हरसिमरत कौर इसी सीट से चुनाव मैदान में हैं. इस बार उनके खिलाफ कांग्रेस के अमरिंदर सिंह राजा हैं. हरसिमरत को बादल परिवार की बहू होने के साथ ही मोदी सरकार की मंत्री होने का भी फायदा मिल सकता है.

कांग्रेस के शेर सिंह घुबाया से मुकाबला
सुखबीर सिंह बादल पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री हैं. सुखबीर पहले दो बार फरीदकोट से सांसद रह चुके हैं. वे 1998-1999 में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री भी रहे थे. इसके बाद वे विधानसभा चुनाव लड़े और उपमुख्यमंत्री बनाए गए. 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने आम आदमी पार्टी के भगवंत मान को हराया था. हालांकि तब पंजाब एनडीए के हाथ से चला गया था और कांग्रेस सत्ता में लौट आई थी. इस बार शिरोमणि अकाली दल ने सुखबीर को फिरोजपुर सीट से मैदान में उतारा है. यहां उनका मुकाबला कांग्रेस के शेर सिंह घुबाया से है, जिन्होंने अकाली दल छोड़कर कांग्रेस का हाथ थामा था.

ये भी पढ़ें--

Loading...


लोकसभा चुनाव: BJP नेता ने विपक्ष पर साधा निशाना, SP-BSP को बताया देश का कोढ़

आखिर किसकी है मशहूर 'चूर चूर नान'? हाईकोर्ट पहुंचा मामला

Exclusive: सरकार बनाने का ये है कांग्रेस का मास्टर प्लान!

राहुल गांधी ने EC पर हमला बोला, कहा- मोदी की सहूलियत के हिसाब से चुनाव कार्यक्रम तय किया

टिकट नहीं दिए जाने पर सिद्धू बोले- मेरी पत्नी झूठ नहीं बोलती

यहां हर नई दुल्हन को देना होता है ये टेस्ट, विरोध करने वाले परिवार को मिलती है सजा

शादी के मंडप में ही बीवी ने की दूल्हे की पिटाई, पढ़ें- पूरा मामला

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स