मिजोरम लोकसभा सीट: इस बार है यहां कांटे की टक्कर - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

मिजोरम लोकसभा सीट: इस बार है यहां कांटे की टक्कर

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर http://bit.ly/2EG1SuE
मिजोरम लोकसभा सीट: इस बार है यहां कांटे की टक्कर
मिजोरम लोकसभा सीट पर कांग्रेस बीजेपी और अन्‍य पार्टियों के बीच मुकाबला है.
News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 9:47 AM IST
मिजोरम लोकसभा सीट मिजोरम राज्य की एकलौती लोकसभा सीट है. ये सीट अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित सीट है. मिजोरम सीट पर 2009 से कांग्रेस का कब्जा है. यहां से कांग्रेस के सी एल रुआला सांसद हैं. 2009 से लगातार वो इस सीट से जीत हासिल कर रहे हैं.

इस सीट से तीन बार निर्दलीय प्रत्याशियों ने बाजी मारी है. 2019 के चुनाव में यहां से मिजो नेशनल फ्रंट ने सी लालरोसांगा को टिकट दिया है. पीपुल्स रिप्रजेंटेशन फॉर आईडेंटिटी एंड स्टेटस ऑफ मिजोरम (प्रिज्म) ने टीबीसी लालवेनचुंगा को चुनाव मैदान में उतारा है. बीजेपी की टिकट पर निरुपम चकमा चुनाव लड़ रहे हैं.

2014 के चुनाव में कांग्रेस के सी एल रुआला ने निर्दलीय उम्मीदवार रॉबर्ट रोमानिया रोयते को 6 हजार 154 वोटों से हराया था. सीएल रुआला ने 2 लाख 10 हजार 485 वोट हासिल किए थे, वहीं रोयते को 2 लाख 4 हजार 331 वोट मिले थे.

2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस उम्‍मीदवार ने जीत हासिल की थी.
2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस उम्‍मीदवार ने जीत हासिल की थी.


इस सीट पर कांग्रेस का अच्छा प्रभाव रहा है. 1971 से अब तक 5 बार कांग्रेस इस सीट पर चुनाव जीत चुकी है. 2004 के चुनाव में यहां से मिजो नेशनल फ्रंट ने जीत हासिल की थी. इस सीट पर मिजो नेशनल फ्रंट का प्रभाव बढ़ा है. मुकाबले में मिजो नेशनल फ्रंट और कांग्रेस के उम्मीदवार ही हैं.
2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने भी यहां से उम्‍मीदवार उतारा है.
2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने भी यहां से उम्‍मीदवार उतारा है.

मिजोरम लोकसभा सीट पर कुल 7 लाख 2 हजार 170 वोटर्स हैं. इनमें पुरुष वोटर्स की संख्या 3 लाख 11 हजार 147 है. केरल के बाद मिजोरम सबसे ज्यादा साक्षर राज्य है. अंग्रेजी हुकूमत के दौरान इस इलाके में मिशनरियों का अच्छा प्रभाव था. ज्यादातर मिजो ईसाई धर्म को मानते हैं. यहां विधानसभा की कुल 40 सीटें हैं.

Loading...