जैतपुर सीनियर ऑडिटर हत्‍या मामले में बड़ा खुलासा - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

जैतपुर सीनियर ऑडिटर हत्‍या मामले में बड़ा खुलासा

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
जैतपुर सीनियर ऑडिटर हत्‍या मामले में बड़ा खुलासा, बेटे और पत्‍नी ने कराई हत्‍या
पत्‍नी और बेटे ने सुपारी देकर कराई जैतपुर ऑडिटर की हत्‍या.
News18Hindi
Updated: July 10, 2019, 12:06 PM IST
दिल्‍ली के जैतपुर में सीनियर ऑडिटर आनंद सिंह हत्‍या मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. आनंद सिंह की उसकी पत्‍नी और उसके नाबालिग बेटे ने ही मिलकर हत्‍या कराई थी. इतना ही नहीं इन्‍होंने हत्‍या करने के लिए दो लोगों को डेढ़ लाख रुपये में सुपारी दी थी. पुलिस ने सुनीता और एक सुपारी किलर ऋषभ उफ शिब्‍बू को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही नाबालिग बेटे को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

पुलिस के मुताबिक सुनीता ने बताया कि आनंद उसके व बेटे के साथ मारपीट और गाली-गलौज करता था. उसकी रोजाना शराब पीने की लत और इन हरकतों से वे परेशान हो गए थे. दक्षिण-पूर्व जिला डीसीपी चिन्मय बिश्वाल ने बताया कि इंडियन ऑडिट्स एंड एकाउंट्स विभाग में सीनियर ऑडिटर आनंद सिंह की हत्या की सूचना 6 जुलाई को सुबह 4:50 बजे मिली थी.

जैतपुर थानाध्यक्ष आनंद स्वरूप, इंस्पेक्टर सतविंदर राणा, बदरपुर थानाध्यक्ष विजय पाल दहिया और पुल प्रह्लादपुर थानाध्यक्ष अजय प्रताप की टीम ने जांच के दौरान सुनीता देवी और उसके बेटे से बात की तो बयानों में विरोधाभास मिला. पत्नी ने कहा कि घर से करीब दो लाख रुपये गायब हैं, हालांकि वह पैसे का स्रोत नहीं बता पाई. पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया.

पत्‍नी और बेटे ने डेढ़ लाख रुपये की सुपारी देकर कराई एमएचए अधिकारी की हत्‍या.
पत्‍नी और बेटे ने डेढ़ लाख रुपये की सुपारी देकर कराई एमएचए अधिकारी की हत्‍या.


हत्‍या में पड़ोसी विकास भी शामिल, उसी के जरिए दी गई सुपारी
जानकारी के मुताबिक हत्‍या करने के लिए मां-बेटे ने पड़ोस में रहने वाले आनंद सिंह के बेटे दोस्‍त विकास से संपर्क किया. इसके लिए उसे 1.5 लाख रुपये भी दिए गए. विकास ने इस वारदात के लिए रिशभ उर्फ शिब्बू को भी शामिल कर लिया. अगले दिन विकास और शिब्‍बू दोनों आनंद सिं‍ह के घर की छत पर छिप गए. जब आनंद सिंह शराब के नशे में 11:30 बजे घर आया और बिना डिनर किए सो गया तो रात करीब ढाई बजे सुनीता व बेटा छत पर गए और विकास व शिब्‍बू को घटना को अंजाम देने के लिए इशारा किया कर दिया. तब दोनों नीचे आए और आनंद सिंह की हत्‍या कर दी.

पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट में पीठ पर चाकू से सिर पर लाठी से किया वार

Loading...


पुलिस के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि आनंद पर पीछे से चाकू से छह वार किए गए थे और सिर पर लाठी मारी गई थी. जिसके बाद आनंद सिंह की मौत हो गई. सुनीता ने बताया कि आनंद शराब पीने के बाद परिजनों से गाली-गलौज व मारपीट करता था. बड़ा बेटा 10वीं कक्षा में फेल हो गया था और नशा भी करता था. इस पर आनंद सिंह ने बेटे को कई बार पीटा था. इससे मां-बेटे नाराज थे और हत्‍या की साजिश रच डाली.

ये भी पढ़ें

UP पुलिस के हेड कांस्टेबल ने थाने में किशोर से किया कुकर्म

Loading...