GFP के आरोप पर सीएम सावंत बोले- किसी को धोखा नहीं दिया - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

GFP के आरोप पर सीएम सावंत बोले- किसी को धोखा नहीं दिया

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शनिवार को गोवा फॉरवर्ड पार्टी (GFP) के उन आरोपों को खारिज किया जिसमें कहा गया था कि भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस के 10 विधायकों को बीजेपी में शामिल करने के बाद उन्हें मंत्रिमंडल से हटाकर अपने सहयोगियों को धोखा दिया है.

इससे पहले जीएफपी के अध्यक्ष और निवर्तमान उपमुख्यमंत्री विजई सरदेसाई ने आरोप लगाया था कि एनडीए ने अपने सहयोगियों को धोखा दिया है, जिनके साथ 2017 में सरकार बनाई थी.

सरदेसाई, GFP के दो मंत्रियों के साथ और एक निर्दलीय को फेरबदल से पहले मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया था. नए मंत्रिमंडल में चंद्रकांत को शामिल किया गया.

सावंत ने चार मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह के बाद संवाददाताओं से कहा,'हमने किसी को धोखा नहीं दिया है हमने अपने केंद्रीय नेतृत्व के निर्देशों के अनुसार फैसला लिया है.

यह भी पढ़ें:  गोवा को मिले चार नए मंत्री, चंद्रकांत कावेलकर उप-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कहा-

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय नेतृत्व से कहा था कि कि भाजपा सदन में 40 में से 27 विधायकों के साथ पूर्ण बहुमत वाली सरकार हो जाएगी. सावंत ने कहा कि, 'मैं किसी को दोष नहीं देना चाहता. मैं सिर्फ प्रशासन को कारगर बनाना चाहता था.'

Loading...


सरदेसाई ने कांग्रेस विधायकों को शामिल करने को 'दिवंगत मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की विरासत की मौत' कहा था.

सरदेसाई ने मीरामार में पर्रिकर स्मारक के पास आयोजित एक सभा में कहा कि 'पर्रिकर की मृत्यु दो बार हुई ... एक बार 17 मार्च को शारीरिक रूप से जबकि आज यह उनकी राजनीतिक विरासत की मृत्यु है.'

यह भी पढ़ें:  गोवा में जो हुआ वो'राजनीतिक वेश्‍यावृत्ति' है: कांग्रेस MLA

तीन महीने पहले सीएम बने थे सावंत

सावंत ने तीन महीने पहले मुख्यमंत्री पद संभाला था, तबसे उनका यह दूसरा मंत्रिमंडल फेरबदल है. अपने पहले कैबिनेट फेरबदल में उन्होंने तत्कालीन उपमुख्यमंत्री सुदीन धवलीकर को हटाकर एमजीपी विधायक दीपक पुष्कर को मंत्रिमंडल में शामिल किया था.

बता दें कांग्रेस के 10 विधायक बुधवार को बीजेपी में शामिल हो गए, जिससे बीजेपी के सदस्यों की संख्या 27 हो गई. मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को सहयोगी गोवा फॉरवर्ड पार्टी के तीन और एक निर्दलीय उम्मीदवार को कैबिनेट से बाहर कर दिया.

इससे पहले डेप्युटी स्पीकर माइकल लोबो ने मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए अपने पद से इस्तीफा दिया. लोबो ने स्पीकर राजेश पटनेकर को अपना इस्तीफा दिया. लोबो ने कहा, 'मैंने पद से इस्तीफा दे दिया क्योंकि मुझे बाद में कैबिनेट में शामिल किया जाएगा.'

यह भी पढ़ें:   सुब्रमण्यम स्वामी बोले- BJP का बढ़ता कद लोकतंत्र के लिए खतरा