तीन तलाक: 'PM मोदी ने मुस्लिम महिलाओं को ताकत दी है' - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

तीन तलाक: 'PM मोदी ने मुस्लिम महिलाओं को ताकत दी है'

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
'तीन तलाक विधेयक राज्यसभा में पास होने के पास ऐसा लग रहा है जैसे आज नई जिंदगी मिली हो. सच पूछें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक पर कानून नहीं हमें ताकत दी है. ऐसी ताकत जिसका इस्तेमाल कर हम उन लोगों को सबक सिखा सकते हैं जो औरतों को पैरों की जूती समझते हैं'... यह कहना है उत्तर प्रदेश के आगरा की रहने वाली तरन्नुम का. तरन्नुम संसद के दोनों सदनों में तीन तलाक बिल पास होने के बाद आगरा में मुकदमा दर्ज कराने वाली पहली महिला हैं.

तरन्नुम का कहना है कि तीन तलाक बिल पास हो गया है. पीएम मोदी की लगातार कोशिशों के बाद अब तीन तलाक पीड़ित महिलाओं को भी आत्मसम्मान से जीने का मौका मिलेगा. साथ ही यह उन लोगों के लिए सबक भी होगा जो अपनी गलती के लिए भी मुस्लिम महिलाओं को फौरन तीन तलाक दे देते हैं.

'तीन तलाक प्रताड़ित महिलाओं की पुलिस मदद नहीं करती'

वहीं तरन्नुम का कहना है कि एक ओर तो कई साल तक कोशिश करने के बाद पीएम मोदी ने तीन तलाक बिल पास कराया, लेकिन पुलिस तीन तलाक पीड़िताओं की मदद नहीं करती है. उल्टे पीड़ित पर ही दबाव बनाने लगती है. वहीं इस कानून में ये भी प्रवधान होना चाहिए कि पीड़ित और उसके बच्चों को इतना गुजारा भत्ता मिलना ही चाहिए कि जिससे कि वो पढ़-लिख सकें.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फोन के बाद आगरा में तीन तलाक में तरन्नुम का मुकदमा दर्ज किया गया था.

तरन्नुम को उसके पति जुकरू रहमान ने दूसरी शादी करने के बाद तीन तलाक दे दिया था. साथ ही उसे और उसके बच्चों को भी घर से बाहर निकाल दिया था. तरन्नुम ने इसकी शिकायत पुलिस से की लेकिन वहां भी एक बीजेपी नेता की सिाफिरश के चलते उसकी सुनी नहीं गई.

थक-हारकर तरन्नुम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गुहार लगाई थी. जिसके बाद लखनऊ से आए फोन कॉल पर तरन्नुम को इंसाफ मिला. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एफआईआर दर्ज की और आरोपी पति को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया.
राज्यसभा में 84 के मुकाबले 99 वोटों से पास हुआ तीन तलाक बिल

बता दें कि बुधवार को सरकार ने राज्यसभा में तीन तलाक बिल पेश किया था. भारी हंगामे के बीच ये प्रस्ताव 84 के मुकाबले 99 वोटों से पास हो गया था. बहस के दौरान राज्यसभा में बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजने का प्रस्ताव भी गिर गया. इससे पहले बीते 26 जुलाई को यह बिल संसद के निचले सदन लोकसभा में पास हो चुका है.

दोनों सदनों में तीन तलाक बिल पास होने के बाद अब इसे राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा. जिनके हस्ताक्षर के बाद ये कानून बन जाएगा.

ये भी पढ़ें: दिल्ली में नए तरीके से लूट रहे हैं साउथ इंडिया के बदमाश, मोटी रकम मिलने पर करते हैं यह काम

इधर बच्चे का पोस्टमॉर्टम चल रहा था उधर बदमाश फिरौती के 25 लाख मांग रहे थे