Zomato के डिलीवरी बॉय ने कहा- क्या कहें सर, सहना पड़ेगा - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

Zomato के डिलीवरी बॉय ने कहा- क्या कहें सर, सहना पड़ेगा

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
खाने की होम डिलीवरी वाली कंपनी जोमैटो ने अपने एक ग्राहक के धार्मिक भेदभाव वाले रवैए का जिस तरह से मुकाबला किया है, उसको सोशल मीडिया पर खूब समर्थन मिल रहा है.

कंपनी ने अपने नेटवर्क पर भोजन पैकेट पहुंचाने वाले एक लड़के के धर्म को लेकर ग्राहक की शिकायत को सुनने से इनकार कर दिया. कंपनी के पक्ष में खड़े लोगों में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और पूर्व मुख्य निर्वाचन आयुक्त एस वाई कुरैशी जैसी हस्तियों के भी नाम हैं.

मध्यप्रदेश के जबलपुर के रहने वाले अमित शुक्ला ने जोमैटो से खाना मंगाया. जब शुक्ला ने देखा कि खाना पहुंचाने वाला शख्स मुस्लिम है, तो उसने जोमैटो से अलग डिलिवरी ब्वॉय भेजने को कहा. शुक्ला ने मंगलवार की रात ट्वीट किया, 'अभी-अभी मैंने जोमैटो से एक ऑर्डर रद्द किया. उन्होंने मेरा खाना गैर-हिन्दू व्यक्ति के हाथ भेजा और कहा कि वे इसे न तो बदल सकते हैं और न ही आर्डर रद्द करने पर पैसा वापस कर सकते हैं. मैंने कहा कि आप मुझे खाना लेने के लिये मजबूर नहीं कर सकते हैं. मुझे पैसा वापस नहीं चाहिये, बस ऑर्डर रद्द करो.'

यह भी पढ़ें: डिलीवरी बॉय को धर्म पूछकर लौटाया, तो Zomato ने दिया ये जवाब

जोमैटो ने कहा- खाना खुद ही एक धर्म
उसने जोमैटो के कस्टमर केयर से की गयी बातचीत का स्क्रीनशॉट भी लगाया और कहा कि वह अपने वकील से इस बारे में परामर्श करेगा. जोमैटो ने इस ट्वीट के जवाब में लिखा, 'खाने का कोई धर्म नहीं होता है. खाना खुद ही एक धर्म है.'

इस पूरे घटनाक्रम पर संबंधित डिलीवरी ब्वॉय ने भी टिप्पणी की. फैयाज़ ने कहा कि 'हां दुख हुआ है. अब क्या बोलेंगे सर, अब लोग जैसा बोले.. सही है... इस पर क्या कर सकते हैं गरीब लोग हैं... सहना पड़ेगा.'
यह भी पढ़ें: जोमैटो से खाना मंगा कर पछता रही साक्षी, खाते से उड़े 80 हजार

कंपनी अपने रुख पर अड़ी रही

कंपनी इस रुख पर टिकी रही और डिलिवरी ब्वॉय बदलने से मना कर दिया. जोमैटो के संस्थापक दीपेंद्र गोयल ने भी ट्वीट किया, 'हमें भारत के विचार और अपने शानदार उपभोक्ताओं एवं भागीदारों की विविधता पर गौरव है. अपने मूल्यों के कारण यदि हमारे कारोबार को कुछ नुकसान भी होता है तो हमें उसका अफसोस नहीं.'



उमर अब्दुल्ला ने जोमैटो की तारीफ करते हुए लिखा, 'सम्मान. मुझे आपका एप पसंद है. धन्यवाद जो आप लोगों ने इस एप का संचालन करने वाली कंपनी को पसंद करने का कारण दिया.' एस.वाई.कुरैशी ने भी लिखा, 'सलाम दीपेंद्र गोयल. आप भारत की वास्तविक तस्वीर हैं. हमें आपके ऊपर गर्व है.' सूत्रों के अनुसार, गोयल ने कंपनी के सिद्धांतों और मूल्यों पर टिके रहने के लिये संबंधित टीम की सराहना की.

यह भी पढ़ें: इस सरकार का बड़ा प्लान, जल्द घर बैठे मिलेंगे कई जरूरी लाइसेंस

भाषा इनपुट के साथ