'करतारपुर साहिब और ननकाना साहिब को भारत में ही होना चाहिए था' - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

'करतारपुर साहिब और ननकाना साहिब को भारत में ही होना चाहिए था'

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी बोले- करतारपुर साहिब और ननकाना साहिब को भारत में ही होना चाहिए था
हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक के जीवन से जुड़े गुरुद्वारे ननकाना साहिब और करतारपुर साहिब को विभाजन के समय भारत में शामिल किया जाना चाहिए था.

हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने कहा कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक के जीवन से जुड़े गुरुद्वारे ननकाना साहिब और करतारपुर साहिब को विभाजन के समय भारत में शामिल किया जाना चाहिए था.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री (Union Minister) हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने सोमवार को करतारपुर (Kartarpur)और ननकाना साहिब (Nankana Sahib) को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक के जीवन से जुड़े गुरुद्वारे ननकाना साहिब और करतारपुर साहिब को विभाजन के समय भारत में शामिल किया जाना चाहिए था.

बीजेपी में बड़ा सिख चेहरा माने जाने वाले पुरी ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच 1947 में जब सीमा रेखा तय हुई, तो उस समय जो भी इस प्रक्रिया में शामिल थे. उन्हें अपने दिमाग का इस्तेमाल करते हुए यह सुनिश्चित करना चाहिए था, कि गुरु नानक देव से जुड़े सभी गुरुद्वारे भारत में ही रहें.

हरदीप सिंह पुरी

गुरु नानक देव की 550वीं जयंती प्रकाश पर्व

हरदीप सिंह पुरी ने एक कार्यक्रम में कहा, ‘ हम गुरु नानक देव की 550वीं जयंती मना रहे हैं और आप अगर गुरु नानक साहिब से जुड़े गुरुद्वारे देखें तो उनके जीवन से जुड़ा गुरुद्वारा-ननकाना साहिब और करतारपुर साहिब पाकिस्तान में हैं. मैं सोचता हूं कि किसी ने तो किसी वक्त अपने दिमाग का इस्तेमाल किया होता. इन सभी गुरुद्वारों को सीमा के इस तरह होना चाहिए था.’

9 नवंबर को सिख श्रद्धालुओं के लिए इस कॉरिडोर को खोलेगा
उल्लेखनीय है कि प्रकाश पर्व से तीन दिन पहले 9 नवंबर को पाकिस्तान सिख श्रद्धालुओं के लिए इस कॉरिडोर को खोलेगा. पाकिस्तान ने इस कार्यक्रम के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को आमंत्रित किया है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि उनके देश ने सिंह को करतारपुर गलियारा के उद्घाटन समारोह में आमंत्रित करने का निर्णय लिया है.

Loading...


काश पर्व से तीन दिन पहले 9 नवंबर को पाकिस्तान सिख श्रद्धालुओं के लिए इस कॉरिडोर को खोलेगा.

कुरैशी ने एक टीवी चैनल को बताया, ‘करतारपुर गलियारे का उद्घाटन एक बड़ा कार्यक्रम है पाकिस्तान इसकी जोर-शोर से तैयारी कर रहा है.’ विदेश मंत्री ने बताया कि पाक प्रधानमंत्री इमरान खान की इसमें व्यक्तिगत रुचि है. उन्होंने कहा, ‘विचार-विमर्श के बाद, पाकिस्तान ने उद्घाटन समारोह में मनमोहन सिंह को बुलाने का निर्णय किया है, जिनका हम अत्यधिक सम्मान करते हैं. सिंह सिख समुदाय का प्रतिनिधित्व करते हैं.’

ये भी पढ़ें: 

करतारपुर गलियारे के उद्घाटन के लिए पाक ने मनमोहन सिंह को भेजा न्योता

गुजरात में IPS अधिकारियों के तबादले, आर बी ब्रह्मभट्ट हुए प्रमोट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 1, 2019, 6:10 AM IST

Loading...