बिहार में पुलिस ने पकड़े 1.67 लाख शराबी, कोर्ट में लग गया मुकदमों का ढेर - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

बिहार में पुलिस ने पकड़े 1.67 लाख शराबी, कोर्ट में लग गया मुकदमों का ढेर

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
बिहार में पुलिस ने पकड़े 1.67 लाख शराबी, कोर्ट में लग गया मुकदमों का ढेर
जिस रफ्तार से केस दर्ज हुए उस रफ्तार से न्यायालय में मामलो का निबटारा नही हो रहा है.

हाल ही में शराबबंदी से जुड़े कुछ आंकड़े जारी किए गए हैं. आंकड़ों की मानें तो बिहार में शराबियों और शराब माफिया के खिलाफ कार्रवाई करते हुए अब तक 52 लाख लीटर शराब जब्त की जा चुकी है. इसके साथ ही शराबबंदी कानून का उल्लघंन करने पर 1.67 लाख व्यक्तियों को बिहार पुलिस पकड़ चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2019, 2:35 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार पुलिस (Bihar Police) को सरकार (Government) की ओर से आदेश (Order) मिला तो शराबियों (Drunken) की धर-पकड़ शुरू हो गई. इसमें पीने वाले भी थे और पिलाने वाले भी शामिल थे. तीन साल पहले 2016 में जब राज्य में शराबबंदी (Liquor Ban) कानून लागू हुआ था उसके बाद से यहां डेढ़ लाख से ज्यादा शराबी पकड़े गए हैं. वहीं लाखों लीटर शराब भी जब्त की जा चुकी है. बिहार में शराबबंदी के तहत कार्रवाई हुई तो इससे जुड़े केस अदालत (Court) में भी पहुंचे. पुलिस की कार्रवाई के चलते कोर्ट में शराब से जुड़े मामलों की बाढ़ सी आ गई है.

तीन साल में 52 लाख लीटर शराब हुई जब्त

हाल ही में शराबबंदी से जुड़े कुछ आंकड़े जारी किए गए हैं. आंकड़ों की मानें तो बिहार में शराबियों और शराब माफिया के खिलाफ कार्रवाई करते हुए अब तक 52 लाख लीटर शराब जब्त की जा चुकी है. इसके साथ ही शराबबंदी कानून का उल्लघंन करने पर 1.67 लाख व्यक्तियों को बिहार पुलिस पकड़ चुकी है.

पटना में हुए सबसे ज्यादा मुकदमे

जारी किए गए आंकड़ों के मुताबनिक शराबबंदी कानून सबसे ज्यादा राजधानी पटना में तोड़ा गया. यहां सबसे ज्यादा 28,593 मामले दर्ज किए गए. वहीं गया में 11,221, मोतिहारी में 9,979 और कटिहार में 8,867 शराबबंदी के केस दर्ज हुए हैं. जिस रफ्तार से केस दर्ज हुए उस रफ्तार से न्यायालय में मामलों का निबटारा नहीं हो रहा है. कानून के जानकार जहां इसकी वजह कोर्ट की कम संख्या होना बता रहे हैं वहीं बिहार में विपक्ष अब इसे मुद्दा बनाने में लगा है.

इस बारे में पटना हाईकोर्ट के वकील शांतनु कुमार की मानें तो समय की जरुरत है कि इस (शराबबंदी के केस) पर जल्द से जल्द नियंत्रण पाया जाये, नहीं तो फिर आगे चलकर हालात बेकाबू होते जायेंगे.

ये भी पढ़ें.

Loading...


सीएम योगी का सख्‍त रुख- सिपाही के हाथ में डंडे की जगह मोबाइल दिखे तो सस्पेंड कर दो CM Yogi की चेतावनी- सड़क किनारे मुर्गे-बकरे काटने वाली दुकानें खुली मिलीं तो DM-SP होंगे जिम्मेदार!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 1:37 PM IST

Loading...