जम्मू-कश्मीर में 70 दिन बाद आज फिर खुलेंगे कॉलेज और यूनिवर्सिटी - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

जम्मू-कश्मीर में 70 दिन बाद आज फिर खुलेंगे कॉलेज और यूनिवर्सिटी

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
जम्मू-कश्मीर में 70 दिन बाद आज फिर खुलेंगे कॉलेज और यूनिवर्सिटी
जम्मू-कश्मीर में सामान्य हालात को देखते हुए कॉलेज और यूनिवर्सिटी को खोलने का निर्णय लिया गया है.

कश्मीर (Kashmir) के संभागीय आयुक्त आधार खान ने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि स्कूल (school) 3 अक्टूबर को फिर खुलेंगे, जबकिकॉलेज (College) और यूनिवर्सिटी (University) में पढ़ाई 9 अक्टूबर से शुरू होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2019, 10:17 AM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आर्टिकल-370 (Article-370) हटाए जाने के बाद घाटी में बंद पड़े कॉलेज (College) और यूनिवर्सिटी (University) को आज एक बार फिर से खोल दिया जाएगा. पांच अगस्त के बाद से ही घाटी में इन्हें एहतियात के तौर पर बंद कर दिया गया था. घाटी में सुधरते हालत को देखते हुए छोटे बच्चों के स्कूल पहले ही खोल दिए गए थे और कॉलेज और यूनिवर्सिटी को भी खोलने का निर्णय लिया गया है.

जम्मू-कश्मीर में अनुच्‍छेद-370 हटाए जाने के बाद से बने माहौल के बीच टीचर्स परीक्षाओं से पहले सिलेबस पूरा कराने के लिए स्‍कूलों के बजाय घरों में स्‍पेशल क्‍लास लगा रहे हैं. सूबे को दो केंद्रशासित राज्‍यों में बांटने के बाद से कश्‍मीर में कई तरह की पाबंदियां लागू कर दी गई थीं. इन पाबंदियों के बीच बडगाम जिले के सेबदन इलाके में बच्चे कंधों पर बस्ता लेकर रोज नए स्कूल की ओर निकल पड़ते हैं.

इसे भी पढ़ें :- जम्‍मू-कश्‍मीर: टीचर्स स्‍कूलों की जगह घरों में स्‍पेशल क्‍लास लगाकर पूरा करा रहे हैं सिलेबस

कश्मीर के संभागीय आयुक्त आधार खान ने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि स्कूल 3 अक्टूबर को फिर खुलेंगे, जबकि कॉलेज में पढ़ाई 9 अक्टूबर से शुरू होगी. बताया जाता है कि सूबे में 65वें दिन भी पाबंदियां लागू हैं. अधिकारियों ने बताया कि ऑटो-रिक्शा समेत कुछ निजी टैक्सियां और निजी वाहन शहर के कई हिस्सों में बड़ी संख्या में सड़कों पर नजर आए. कई जगह कुछ रेहड़ी पटरी वाले भी दिखे. दशहरा पर सार्वजनिक अवकाश होने के कारण बंद का असर ज्यादा दिखा, क्योंकि सरकारी कर्मचारी आज बाहर नहीं निकले. घाटी में लैंडलाइन सेवाएं बहाल कर दी गई हैं. कश्मीर के अधिकतर हिस्सों में मोबाइल सेवाएं और इंटरनेट सेवाएं 5 अगस्त से ही निलंबित हैं. पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती समेत मुख्य धारा के कई नेता अब भी नजरबंद या हिरासत में हैं.

Jammu and Kashmir, Article 370, College, University, Satya Pal Malik, Pakistan, Imran Khan
पर्यटकों के घाटी छोड़ने संबंधी ट्रैवल एडवाइजरी को वापस ले लिया गया है.

कश्मीर घूमने फिर से जा सकेंगे पर्यटक
आर्टिकल 370 और आर्टिकल 35ए हटाए जाने से पहले पर्यटकों के घाटी छोड़ने संबंधी ट्रैवल एडवाइजरी को वापस ले लिया गया है. जम्मू-कश्मीर के सामान्य स्थिति में लौटने की दिशा में एक बड़े कदम में राज्यपाल सत्य पाल मलिक ने सोमवार को दो महीने पहले जारी की गई ट्रैवल एडवाइजरी को वापस ले लिया. इस ट्रैवल एडवाइजरी में कहा गया था कि पर्यटक जल्द से जल्द घाटी छोड़ दें. सोमवार रात जारी किए गए आदेश के अनुसार, पर्यटकों को राज्य में लौटने की अनुमति दे दी गई है. यह आदेश 10 अक्टूबर से लागू होगा.

Loading...


इसे भी पढ़ें :- कश्मीर में सरकार 'नए नेताओं की फौज' लाने को तैयार, बीडीसी चुनाव से होगी शुरुआत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 10:17 AM IST

Loading...