स्टूडेंट इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन ने जेएनयू छात्र नजीब को लेकर किया बड़ा ऐलान - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

स्टूडेंट इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन ने जेएनयू छात्र नजीब को लेकर किया बड़ा ऐलान

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र नजीब अहमद (Najeeb Ahmed) को गायब हुए तीन साल पूरे होने वाले हैं. इस मौके पर स्टूडेंट इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन (SIO) ने ऐलान करते हुए कहा, 'नजीब का जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) से गायब होना कोई सामान्य मामला नहीं है. यह अल्पसंख्यकों (Minority) को हॉयर एजूकेशन इंस्टीट्यूट में जाने से रोकने का एक प्लान है. ये लोग एक वर्ग विशेष के छात्रों में डर पैदा करना चाहते हैं. लेकिन हम डरेंगे नहीं 15 अक्टूबर को देशभर के स्कूल-कॉलेज में नजीब को इंसाफ दिलाने की मांग को लेकर आंदोलन किया जाएगा. सभी संगठनोंं के साथ मिलकर यह आंदोलन किया जाएगा.' एसआईओ के राष्ट्रीय सचिव फवाज़ शाहीन ने गुरुवार को प्रेस क्लब में मीडिया को संबोधित करते हुए यह ऐलान किया. बता दें कि एसआईओ जमात-ए-इस्लामी हिंद (Jamaat-e-Islami hind) की स्टूडेंट विंग है. देशभर में कई हजार छात्र इसके सदस्य हैं. यह छात्र हित के साथ ही समाजसेवा के काम भी करता है.

यूनाइटेड अगेंस्ट हेट (UAH) की ओर से इस प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया था. इस मौके पर यूएएच के फाउंडिंग मेंबर नदीम खान ने कहा कि नजीब को गायब हुए तीन साल पूरे होने वाले हैं. लेकिन अब तक सरकार या प्रशासन ने कोई भी गंभीर और सकारात्मक कदम नहीं उठाया है. साथ ही नजीब के लापता होने कि जांच भी किसी निर्णायक मोड़ पर नहीं पहुंच सकी है.

शहीद इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की पत्नी बोलीं...

प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की पत्नी ने भावुक होते हुए कहा, 'मैं इंसाफ की लड़ाई आखरी सांस तक लडूंगी. आरोपियों का इस तरह जमानत पर आना बहुत दुख देने वाला है. अपने फर्ज को निभाते हुए शहीद होने वाले मेरे पति की हत्या के आरोपी बड़े नेताओं के करीबी हैं. लेकिन मैं कमजोर नहीं हूं, इंसाफ की लड़ाई आखिरी दम तक लड़ती रहूंगी.'

प्रेस क्लब में मीडिया को संबोधित करते हुए नजीब और साहिल की मां, इंस्पेक्टर सुबोध की पत्नी.

मुसलमान समझकर मारे गए साहिल की मां बोली हम हार गए

इस मौके पर दिल्ली के एक इलाके में भीड़ के हाथों मारे गए साहिल की मां ने अपना दुख जाहिर करते हुए कहा, 'मेरे बेटे का नाम साहिल सुनकर मुसलमान समझकर उसे मार दिया. अब जब हम उसके हत्यारों को सजा दिलाने के लिए यहां से वहां चक्कर काट रहे हैं तो पुलिस हमारा सहयोग नहीं कर रही है. आरोपियों को बचाया जा रहा है. हम तो हार गए इस सिस्टम से.'

Loading...


नदीम खान ने बताया, 'यूनाइटेड अगेंस्ट हेट, एसआईओ और देश के तमाम छोटे-बड़े संगठन 15 अक्टूबर को नजीब के गायब होने के बाद आरोपियों से पूछताछ न करने, गंभीरता से नजीब की तलाश न किए जाने और पीड़ित परिवार को परेशान किए जाने के विरोध में प्रदर्शन करेंगे. वहीं तीन मांगें की जाएंगी कि- नजीब के मामले की दोबारा जांच हो. साहिल के केस की निष्पक्ष जांच और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई हो. इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के हत्यारों की ज़मानत रद्द हो.'

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के छात्रसंघ के सचिव हुज़ैफ़ा आमिर, जेएनयू की प्रोफ़ेसर गज़ाला जमील सहित छात्र संगठन आइसा के सदस्य आदि भी मौजूद थे.

ये भी पढ़ें- 

बेटे-बेटी की टिकट के लिए काम नहीं आया केंद्रीय मंत्रियों का दबाव, BJP ने कार्यकर्ताओं को मैदान में उतारा 

वक्फ बोर्ड ने नजीब की मां को दिया 5 लाख का चेक, भाई को इंजीनियर की नौकरी देने का वादा