भाजपा का कोलकाता और आसपास के जिलों में जनाधार बढ़ाने का लक्ष्य - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

भाजपा का कोलकाता और आसपास के जिलों में जनाधार बढ़ाने का लक्ष्य

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
भाजपा का कोलकाता और आसपास के जिलों में जनाधार बढ़ाने का लक्ष्य
बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष

दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने बताया कि हमने अपने संगठन के नेताओं से कहा है कि वे पार्टी की नीतियों, कार्यक्रमों और केंद्र में हमारी उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाएं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2019, 12:25 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में 2021 के विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) को देखते हुये भाजपा (BJP) के प्रदेश नेतृत्व ने कोलकाता और उसके आसपास के जिलों तथा मुस्लिम बहुल सीमावर्ती जिले मुर्शिदाबाद (Murshidabad) में अपना जनाधार बढ़ाने का फैसला किया है. पार्टी की संगठनात्मक बैठक के बाद, बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने मंगलवार को स्वीकार किया कि भगवा पार्टी राज्य में गहरी पैठ बनाने के बावजूद दक्षिण 24 परगना, बीरभूम, मुर्शिदाबाद और कोलकाता जैसे जिलों में कमजोर है.

घोष ने यहां संवाददाताओं से कहा कि हमें इन जिलों में अपना जनाधार बढ़ाना है, हमने अपने संगठन के नेताओं से कहा है कि वे पार्टी की नीतियों, कार्यक्रमों और केंद्र में हमारी उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाएं. 2019 के आम चुनाव में भाजपा ने राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 18 सीटें जीतकर शानदार प्रदर्शन किया था.

इस बार सौरभ गांगुली (Sourav Ganguly) के 2021 के बंगाल में होने वाले चुनावों में भाजपा का चेहरा होने की उम्मीद जताई जा रही है. अमितशाह ने कहा हमने बगैर चेहरे के भी लोकसभा चुनाव में 18 सीटें जीती थीं. इसका मतलब यह नहीं कि चेहरों की जरूरत ही नहीं, लेकिन हम किसी एक के बगैर भी चुनाव जीत सकते हैं. माना जा रहा है कि बीजेपी को बंगाल में ममता बनर्जी के सामने एक ऐसे चेहरे की तलाश है जो उनका मुकाबला कर सके. गांगुली इसमें पूरी तरह से फिट भी बैठते हैं.

उन्होंने कहा कि राज्य के सभी 79,000 बूथ-स्तरीय समितियों में संगठनात्मक चुनाव हो रहे हैं, जिनमें से 64,000 बूथ-स्तरीय समितियों के चुनाव पहले ही संपन्न हो चुके हैं.

कुछ ही दिनों पहले प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा था कि हमने प्रतिभाशाली लोगों के समूह के गठन के लिए हर निर्वाचन क्षेत्र से अपनी पार्टी के चार सदस्यों की पहचान की प्रक्रिया शुरू कर दी है. चुने गए पार्टी कार्यकर्ताओं को भावी संगठनात्मक नेताओं और 2021 के विधानसभा चुनाव के लिए संभावित उम्मीदवारों के रूप में तैयार किया जाएगा. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें : अयोध्या केस: सुन्नी वक्फ बोर्ड के हटने से क्या पड़ेगा असर? जानें कानूनी पेंच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2019, 12:25 PM IST

Loading...