जमीन की 1 फीट से भी कम ऊंचाई की फोटो ले सकता है CARTOSAT-3, लॉन्चिंग आज - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

जमीन की 1 फीट से भी कम ऊंचाई की फोटो ले सकता है CARTOSAT-3, लॉन्चिंग आज

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
ISRO आज लॉन्च करेगा CARTOSAT-3 सैटेलाइट, जमीन की 1 फीट से भी कम ऊंचाई की ले सकता है फोटो
इस सैन्य जासूसी सैटेलाइट को PSLV-C-47 के जरिए इसकी कक्षा में पहुंचाया जाएगा.

PSLV-C-47 की यह 49वीं उड़ान है, जो कार्टोसैट-3 (CARTOSAT-3) के साथ अमेरिका के कॉमर्शियल उद्देश्य वाले 13 छोटे सैटेलाइट को लेकर अंतरिक्ष में जाएगा. कार्टोसैट-3 का कैमरा इतना ताकतवर है कि वह अंतरिक्ष से जमीन पर 1 फीट से भी कम (9.84 इंच) की ऊंचाई तक की तस्वीर ले सकेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2019, 9:25 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) बुधवार को एक बार फिर से इतिहास रचने जा रहा है. इसरो आज कार्टोसैट-3 (CARTOSAT-3) के साथ अमेरिका के 13 नैनो सैटेलाइट की लॉन्चिंग करेगा. कार्टोसैट-3 सैटेलाइट सेना के लिए बेहद मददगार साबित होने वाला है. इस सैन्य जासूसी सैटेलाइट को PSLV-C-47 के जरिए इसकी कक्षा में पहुंचाया जाएगा. यह कार्टोसैट सीरीज का नौवां सैटेलाइट है, जिसे यहां से 120 किलोमीटर दूर श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर के सेकंड लॉन्च पैड से सुबह 9:28 बजे लॉन्च किया जाएगा.

PSLV-C-47 की यह 49वीं उड़ान है, जो कार्टोसैट-3 के साथ अमेरिका के कॉमर्शियल उद्देश्य वाले 13 छोटे सैटेलाइट को लेकर अंतरिक्ष में जाएगा. कार्टोसैट-3 का कैमरा इतना ताकतवर है कि वह अंतरिक्ष से जमीन पर 1 फीट से भी कम (9.84 इंच) की ऊंचाई तक की तस्वीर ले सकेगा. इस कैमरे के जरिए बेहद बारीक चीजों को भी स्पष्ट तौर पर देखा जा सकेगा.

इसरो ने कहा, 'PSLV-C-47 मिशन की लॉन्चिंग के लिए श्रीहरिकोटा में मंगलवार सुबह 7 बजकर 28 मिनट पर 26 घंटे की उल्टी गिनती शुरू हो गई. इसे 27 नवंबर को सुबह लॉन्च किया जाएगा.


Loading...


ये है खासियत?
>>कार्टोसैट-3 तीसरी पीढ़ी का बेहद चुस्त और उन्नत सैटेलाइट है, जिसमें हाई रिजोल्यूशन तस्वीर लेने की क्षमता है.

>>इसका भार 1,625 किलोग्राम है और यह बड़े पैमाने पर शहरी नियोजन, ग्रामीण संसाधन और बुनियादी ढांचे के विकास, तटीय भूमि के उपयोग और भूमि कवर के लिए उपभोक्ताओं की बढ़ती मांग को पूरा करेगा.

>>इसरो ने कहा है कि पीएसएलवी-सी47 ‘एक्सएल’ कनफिगरेशन में पीएसएलवी की 21वीं उड़ान है ।

>>रक्षा विशेषज्ञों का दावा है कि अभी तक इतनी सटीकता वाला सैटेलाइट कैमरा किसी देश ने लॉन्च नहीं किया है. अमेरिका की निजी स्पेस कंपनी डिजिटल ग्लोब का जियोआई-1 सैटेलाइट 16.14 इंच की ऊंचाई तक की तस्वीरें ले सकता है. (PTI इनपुट के साथ)

चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर ने भेजी चांद की ऐसी तस्वीर, जिसे देखकर आप हो जाएंगे हैरान

सरकार ने लोकसभा में बताया, क्यों हुई थी चंद्रयान-2 की हार्ड लैंडिंग?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 8:06 AM IST

Loading...