महाराष्ट्र में जिसके साथ होंगे 29 विधायक वही फ्लोर टेस्ट में दिखा सकेगा दम - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

महाराष्ट्र में जिसके साथ होंगे 29 विधायक वही फ्लोर टेस्ट में दिखा सकेगा दम

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन के बाद अब बीजेपी (BJP) के सामने फ्लोर टेस्ट (Floor test) में बहुमत (Majority) साबित करने की चुनौती होगी. शनिवार की सुबह जिस तरह से महाराष्ट्र की राजनीति में उलटफेर हुआ, उसके बाद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Governor Bhagat singh koshyari) के फैसले के खिलाफ शिवसेना (Shiv Sena), एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) पहुंच गईं हैं. इस याचिका में बीजेपी (BJP) सरकार को बर्खास्त करते हुए 24 घंटे के भीतर फ्लोर टेस्ट कराने की मांग की गई है. महाराष्ट्र में बदले समीकरण के बीच सभी बड़ी पार्टियों की नजर अब छोटे दलों और निर्दलीय विधायकों पर टिकी हुई हैं. बताया जा रहा है कि फ्लोर टेस्ट के दौरान महाराष्ट्र के 29 विधायकों की भूमिका काफी अहम होगी.

भाजपा के 105, राकांपा के 54 और 11 निर्दलीय विधायकों के समर्थन के दावे के बीच देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को सीएम पद की शपथ ली थी. इस पूरे घटनाक्रम के बाद शिवसेना ने दावा किया है कि उसे सात निर्दलीय और छोटे दलों के विधायकों का समर्थन हासिल है. महाराष्ट्र की बदली राजनीति में सभी दलों के लिए जरूरी हो गया है कि वह निर्दलीय विधायकों को अपने साथ रखें. पार्टी नेताओं का पता है कि अलगे कुछ दिन ऐसे होंगे जहां विधायकों को हर तरफ से रोकने की कोशिश की जाएगी. निर्दलीय विधायक भले ही कम संख्या में हों लेकिन इस वक्त वह किसी की भी सत्ता बना और गिरा सकते हैं.

इसे भी पढ़ें :- अजित की बगावत ने चाचा शरद पवार की 41 साल पहले की कहानी याद दिला दी

भाजपा के एक नेता ने कहा कि इस बार का फ्लोर टेस्ट ऐसा होगा कि एक नंबर भी महत्वपूर्ण होगा. बीजेपी की बागी गीता जैन, जिन्होंने पार्टी से टिकट न मिलने पर मीरा-भयंदर सीट से एक निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की. निर्दलीय विधायक गीता जैन ने कहा कि वह बीजेपी को समर्थन देना जारी रखेंगी. उन्होंने कहा कि मैंने पहले ही बीजेपी को समर्थन दिया है और मैं अपना रुख कभी नहीं बदलूंगी क्योंकि हमेशा से ही मैं बीजेपी कार्यकर्ता रही हूं.

इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र: NCP के एक और विधायक नितिन पवार हुए लापता, बेटे ने दर्ज कराई शिकायत

इसी तरह प्रहार जनशक्ति पार्टी के दो विधायकों ने शिवसेना को समर्थन देने का वादा किया है. अचलपुर विधानसभा क्षेत्र के बच्चू कडू और मेलघाट विधानसभा क्षेत्र के राजकुमार पटेल ने पहले ही शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात कर उन्हें अपना समर्थन पत्र सौंप दिया था. अब जब महराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर हो चुका है उसके बाद भी उन्होंने अपना समर्थन शिवसेना के साथ जारी रखने का फैसला किया है. इस बीच, एकमात्र पार्टी जो राज्य में राजनीतिक रस्साकशी में किसी भी विचार का समर्थन नहीं कर रही है, वह असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाला एआईएमआईएम है. दो विधायकों के साथ, एआईएमआईएम विपक्ष में बैठेगी. एआईएमआईएम के विधायक न कांग्रेस-एनसीपी-सेना के साथ जाएंगे और न ही फ्लोर टेस्ट में बीजेपी का साथ देंगे. पूर्व एमआईएम विधायक वारिस पठान ने कहा, हमारे अध्यक्ष (ओवैसी) ने स्पष्ट कर दिया है कि हम विपक्ष में बैठेंगे.

पार्टी                                     सीटें

Loading...


भारतीय जनता पार्टी                 105
शिवसेना                                 56
कांग्रेस                                    44
एनसीपी                                  54
एआईएमआईएम                     02
बहुजन विकास आघाडी            03
सीपीआई (एम)                        01
निर्दलीय                                  13
जन सुराज्य शक्ति                    01
क्रांतिकारी शेतकारी पार्टी          01
महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना             01
पीडब्ल्यूपीआई                         01
प्राहर जनशक्ति पार्टी                 02
राष्ट्रीय समाज पक्ष                      01
समाजवादी पार्टी                       02
स्वाभिमानी पक्ष                         01
कुल                                         288

इसे भी पढ़ें:-