BJP सांसद ने चेताया, अरुणाचल न बन जाए अगला डोकलाम, चीन हथिया रहा हमारी जमीन - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

BJP सांसद ने चेताया, अरुणाचल न बन जाए अगला डोकलाम, चीन हथिया रहा हमारी जमीन

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
बीजेपी सांसद ने चेताया, अरुणाचल में अगला डोकलाम नहीं बनने दीजिए, चीन हथिया रहा हमारी जमीन
तपिर गाओ ने चीन के बारे में इससे पहले भी इसी तरह का दावा किया था. फाइल फोटो

पिछले साल सिक्‍किम (Sikkim) के पास डोकलाम (Doklam) में भारत और चीन के सैनिकों के बीच 73 दिनों तक तनातनी चलती रही थी. लोकसभा में बीजेपी सांसद तपिर गाओ (Tapir Gao) ने लोकसभा (Lok Sabha) में जीरो आवर के दौरान अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) में चीन की घुसपैठ का मामला उठाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 12:11 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के बीजेपी सांसद (BJP) ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अरुणाचल प्रदेश को अगला डोकलाम (Doklam) न बनने दीजिए. चीन हमारी जमीन हथिया रहा है. लोकसभा में बीजेपी सांसद तपिर गाओ (Tapir Gao) ने कहा, जब भी राष्‍ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृह मंत्री या रक्षामंत्री अरुणाचल प्रदेश की यात्रा पर जाते हैं तो चीन ऐतराज जताता है. गाओ ने मामला जीरो आवर के दौरान उठाया. उन्‍होंने कहा, 14 नवंबर को जब रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने अरुणाचल के तवांग का दौरा किया तो चीन (China) ने इस पर भी ऐतराज जताया.

तपिर गाओ (Tapir Gao) ने कहा, मैं इस सदन और मीडिया से कहूंगा कि वह चीन (China) की इस घटना का विरोध करें. अगर अगला डोकलाम (Doklam) दोहराया गया तो ये अरुणाचल होगा, क्‍योंकि यहां पर चीन लगातार हमारी जमीन हथिया रहा है. उन्‍होंने दावा किया है कि वह ऐसा कई सालों से कर रहा है अब तक उसने 50 से 60 किमी की जमीन पर अवैध कब्‍जा कर लिया है.

पिछले साल सिक्‍किम (Sikkim) के पास डोकलाम (Doklam) में भारत और चीन के सैनिकों के बीच 73 दिनों तक तनातनी चलती रही थी. दोनों देशों के सैनिक एक दूसरे के सामने खड़े रहे थे. तब भारत ने चीन को विवादित क्षेत्र में बिल्‍डिंग और रोड बनाने से मना कर दिया था. इसके बाद ये विवाद शुरू हुआ था. भारत के लिए ये कॉरिडोर इसलिए अहम है क्‍योंकि यहीं से भारत नॉर्थ ईस्‍ट के शेष हिस्‍से से जुड़ता है. इसके बाद 28 अगस्‍त 2017 को दोनों देशों ने आपसी सहमति के बाद चीन ने सड़क और बिल्‍डिंग निर्माण कार्य रोक दिया, इसके बाद भारतीय सैनिक भी पीछे हट गए.

वैसे ये पहली बार नहीं है, जब तपिर गाओ ने इस तरह का दावा किया है. सितंबर में उन्‍होंने कहा था कि चीन के सैनिकों ने अरुणाचल के अंजा जिेले में घुसपैठ की है और एक पुल का निर्माण भी किया है. हालांकि बाद में केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू ने कहा, अरुणाचल में भारत और चीन सीमा पर पूरी तरह से शांति है. वहां पर कोई विवाद नहीं है.

ये  भी पढ़ें....
भारत की कूटनीतिक जीत, श्रीलंका के नए राष्ट्रपति पहली ही विदेश यात्रा पर आएंगे दिल्‍ली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 11:50 PM IST

Loading...