फिर बदल जाएगा पीएम आवास का पता? सेंट्रल दिल्ली के नए डिजाइनर ने दिया सुझाव - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

फिर बदल जाएगा पीएम आवास का पता? सेंट्रल दिल्ली के नए डिजाइनर ने दिया सुझाव

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
फिर बदल जाएगा प्रधानमंत्री आवास का पता? आर्किटेक्ट ने दिया सुझाव
सरकार ने इस पूरे निर्माण पर करीब 10 हजार करोड़ रुपये के खर्च के का अनुमान लगाया है.

आर्किटेक्ट फर्म ने संसद भवन और केंद्रीय सचिवालय को भी बदलने का सुझाव दिया है. राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक के ढाई किलोमीटर लंबे राजपथ को भी नए सीरे से डिजाइन करने का प्रस्ताव रखा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2019, 8:27 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के घर का पता एक बार फिर से बदल सकता है. दरअसल एक आर्किटेक्ट फर्म ने प्रधानमंत्री आवास (PM Residence) को बदलने का सुझाव दिया है. इस कंपनी को सेंट्रल दिल्ली को डिजाइन करने के लिए चुना गया है.

क्या होगा नया पता?
अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक आर्किटेक्ट फर्म ने प्रधानमंत्री आवास को 7 लोक कल्याण मार्ग से रायसीना हिल्स यानी राष्ट्रपति भवन के दक्षिण में डलहौजी रोड हटमेंट्स पर शिफ्ट करने का सुझाव दिया है. इसके अलावा इस फर्म ने प्रधानमंत्री के ऑफिस (PMO) को भी बदलने का सुझाव दिया है. हालांकि इसको लेकर आखिरी फैसला कई और पक्षों से बातचीत के बाद लिया जाएगा. बता दें कि पहले लोक कल्याण मार्ग का नाम रेस कोर्स रोड हुआ करता था.

बदलेगी राजपथ की सूरत

ये आर्किटेक्ट फर्म अहदाबाद की है. आर्किटेक्चर ऐंड अर्बन डिजाइन की इस कंपनी ने सेंट्रल दिल्ली में बदलाव के कई सुझाव दिए हैं. कंपनी की तरफ से संसद भवन और केंद्रीय सचिवालय को भी बदलने का सुझाव आया है. राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक का ढाई किलोमीटर लंबे राजपथ को भी नए सीरे से डिजाइन करने का प्रस्ताव रखा गया है. शहरी विकास मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक डिजाइन, आर्किटेक्चर से जुड़े प्रस्तावों, खास तौर पर संसद भवन की नई बिल्डिंग और ऑफिस से जुड़े मसलों पर आखिरी फैसला लेने से पहले सरकार, लोकसभा अध्यक्ष और अन्य बड़े पदाधिकारियों से सलाह-मशिवरा किया जाएगा.

कितना होगा खर्चा?
सरकार ने इस पूरे निर्माण पर करीब 10 हजार करोड़ रुपये के खर्च के का अनुमान लगाया है. इसे पूरा करने के लिए मार्च 2024 की डेडलाइन रखी गई है. यानी इसे अगले लोकसभा चुनावों से सिर्फ दो महीने पूरी करने का लक्ष्य है.

Loading...


ये भी पढ़ें:

वायु प्रदूषण से सावधान, हो सकते हैं इन गंभीर बीमारियों के शिकार

जब PM मोदी ने 370 का किया जिक्र, बैंकॉक स्टेडियम में खड़े हो गए हजारों लोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 3, 2019, 8:00 AM IST

Loading...