शायद आप नही जानते होंगे शक्ति कपूर के बारे में यह रोचक बातें । - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

शायद आप नही जानते होंगे शक्ति कपूर के बारे में यह रोचक बातें ।

दोस्तों आज हम आपको बताएँगे शक्ति कपूर की वो 10 बातें जो शायद आप नहीं जानते होंगे तो चलिए शुरू करते है।

10. शक्ति कपूर का असली नाम सुनील सिकन्दरलाल कपूर है, उन्हें अपना नाम सुनील कमजोर लगा जिसे बदलकर इन्होने शक्ति कर लिया।
9. इन्होने दिल्ली यूनिवर्सिटी से किरोड़ीमल कॉलेज से अध्ययन किया और एफ.टी.आइ.आइ. से अभिनय की बारीकियां सीखी।
8.शक्ति कपूर का जन्म दिल्ली के एक पंजाबी परिवार में हुआ इनके पिता की कनॉट प्लेस पर टेलरिंग की दुकान थी।

7.एक बार वो अपने माता पिता को अपनी फिल्म 'इंसानियत के दुश्मन' दिखाने ले गए जिसमें वो एक लड़की के साथ बलात्कार करते नजर आये। यह देख उनकी माँ भड़क गयी और थिएटर छोड़कर बाहर चली गयी और पिता ने भी फटकार लगाई कि सिर्फ लड़कियों को छेड़ने का काम करते हो अच्छे रोल कर लिया करो.



6.शक्ति स्पोर्ट्स कार के बहुत शौकीन थे और उनमें बहुत पैसा खर्च करते थे जीतेन्द्र जिनके साथ शक्ति ने कई फिल्मों में काम किया ने शक्ति को समझाया की फालतू पैसे खर्च मत किया करो और पेसो को प्रॉपर्टीज ख़रीदनव में लगाओ तो भविष्य अच्छा होगा और आज इसी की बदौलत उनके पास तीन भव्य बंगले है।

5.शक्ति कपूर मिथुन चक्रबर्ती की बहुत इज्जत करते है और वो कहते है की अगर मिथुन उन्हें चांटा भी मार दे तब भी वे बुरा नहीं मानेंगे।

4.शक्ति कपूर की पत्नी शिवांगी कोल्हापुरे रिश्ते में अभिनेत्री पद्मिजी कोल्हापुरे की बहन है। शक्ति उनके साथ 'किस्मत' फिल्म इ काम कर रहे थे और इसी बीच उनको शिवांगी को दिल दे बैठे और उन्हें अपनी स्पोर्ट कार में घूमाकर उनका दिल भी जीत लिया।

3.सत्ते पे सत्ता के दौरान शक्ति को महसूस हुआ की वो अच्छी कॉमेडी भी कर लेते है और इसके बाद उन्होंने कई फिल्मों में कॉमेडी विलेन का रोल निभाया।



2.शक्ति कपूर पर 100 से भी ज्यादा गाने फिल्माए गए। वो एक युवा हीरो जैसे लगते थे इसलिए मिथुन, गोविंदा, और संजय दत्त जैसे कई हीरो के साथ गानों पर डांस किया और उनका डांस देख आजाद खान ने उनका नाम डांसिंग क्वीन रख दिया था।
1.इतनी सारी फिल्मों में काम करने बावजूद सिर्फ राजाबाबू के लिए ही उन्हें फ़िल्म फरे अवार्ड मिला।