ताजमहल से जुड़ी 13 ऐसी रहस्यमयी बातें! जिनको जानकर चौंक जाएंगे आप - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

ताजमहल से जुड़ी 13 ऐसी रहस्यमयी बातें! जिनको जानकर चौंक जाएंगे आप

खुबसूरती और प्यार की निशानी कहे जाने वाले ताजमहल को किसने और किसके लिए बनवाया था, ये तो हम सब जानते ही है परन्तु इसके बावजूद ऐसी बहुत सी बातें हैं जो इस ईमारत से जुडी हैं लेकिन आपको वो सब शायद ही पता हो इसलिए हम इस पोस्ट के जरिए आपको वो सब बताने जा रहे हैं –


1. ताजमहल के मकबरे की छत में छेद - ताजमहल के मकबरे की छत में एक छेद है। जिसके पीछे भी बहुत ही दुखभरा कारण है। कहा जाता है कि शाहजहाँ ने उन सभी मजदूरों के हाथ काटने के निर्देश दे दिए थे, जिन्होंने इस सुंदर ईमारत का निर्माण किया था। क्योंकि वो चाहता था की ताजमहल जैसी खुबसूरत ईमारत कोई और ना बने। शाहजहाँ के इस फैसले से नाराज़ मजदूरों ने जान बुझकर मकबरे में एक छेद छोड़ दिया था। जिसकी वजह से बारिश के मौसम में आज भी वहाँ पानी टपकता रहता है।

2. ताजमहल के गुंबद को बांस से ढकना - जी हाँ द्वितीय विश्व युद्ध, 1971 भारत-पाक युद्ध और 9/11 के बाद ताजमहल को पहली बार बांस से ढक दिया गया था। इस शानदार इमारत की सुरक्षा को देखते हुए भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग ने ताज के चारों तरफ बांस से एक सुरक्षा घेरा बनाने के बाद उसे हरे रंग की चादर में ढक दिया था, ताकि दुश्मनों को इस खुबसूरत ईमारत के बारे में पता न चल पायें। और ताजमहल को किसी भी तरह की क्षति होने से बचाया जा सके।


3. शाहजहाँ ने जब पहली बार ताजमहल को देखा - क्या आप जानते की जब शाहजहाँ ने पहली बार ताजमहल को देखा तो देखते ही वो उसकी सुन्दरता के कायल हो गया और उसके मुख से निकल पड़ा कि “ ये सिर्फ प्यार की कहानी ही बयां नही करेगा बल्कि उन साभी को दोष मुक्त करेगा जो इस पाक़ जमीं पर कदम रखेंगे और इसकी गवाही चाँद तारे भी देंगे “।
4. क्या शाहजहाँ ने मजदूरों के हाथ कटवा दिए थे - ऐसा कहा जाता ही कि ताजमहल बनने के बाद शाहजहाँ ने ऐलान कर दिया था कि जिन कारीगरों ने ताजमहल को बनाया हैं, उन सब के हाथ काट दिए जाएं। इस बात पर विश्वास करना मुश्किल हैं। अब पता नही इस बात में कितना सच हैं ये तो आपको नही बता सकते क्योकि इस बात की अभी तक पुष्टि नही हुई हैं और तो और कुछ लोग इस बात पर संदेह भी करते है। परन्तु ये भी कहा जाता हैं कि ताजमहल के बाद भी कई इमारतों को बनवाने में उन लोगों का योगदान रहा था । उनमें से एक हैं उस्ताद अहमद लाहौरी, जिसने ताजमहल को बनाया था और लाल किले का निर्माण का कार्य भी उसी की देख-रेख में शुरू हुआ था।


5. ताजमहल की मीनारें - ताजमहल के मुख्य गुम्बंद के चारों तरफ मीनारें हैं। ये चारों मीनार इस की तरफ झुकी हुई हैं इनके झुके होने का रहस्य यह हैं कि यदि कभी भूकंप या प्राकृतिक आपदा आ जाए और ये मीनारें गिर भी जाए तो ताजमहल के मुख्य गुम्बंद को कोई हानि न हो।
6. ताजमहल को बेच दिया गया था - ऐसा भी कहा जाता हैं कि बिहार के एक प्रसिद्ध ठग जिसका नाम नटवरलाल था, उसने ताजमहल को मंदिर बताकर बेच दिया था। इस बात की पुष्टि हम नही कर सकते परन्तु ऐसा कहा जाता हैं।

7. यमुना न होती तो ताजमहल भी न होता - ताजमहल की बनावट ऐसी हैं, जिसे एक खास आधार की जरुरत थी और उस आधार को एक ऐसी लकड़ी से बनाया गया हैं , जिसे पानी मिलने पर ही मजबूती मिलती हैं और इस काम को करती हैं यमुना नदी।
8. ताजमहल के अनोखे पत्थर - ऐसे माना जाता हैं की ताजमहल के निर्माण में बेस कीमती पत्थरों का इस्तेमाल किया गया था। जिसे देखने से आँखे भी चौधियाँ जाती हैं। इस ईमारत को बनाने में जिन पत्थरों का इस्तेमाल हुआ था उन्हें मुख्यतः चीन ,तिब्बत और श्रीलंका से अठारह तरह के बहुमूल्य पत्थरों के इस्तेमाल से बनाया गया था। इन बेस कीमती पत्थरों को अंग्रेज अपने शासन काल में अपने साथ ले गए थे।
9. ताजमहल के सभी फव्वारे एक साथ काम करते हैं -  क्या आप जानते हैं की ताजमहल के फव्वारों की सबसे ख़ास बात क्या हैं। वो ये हैं की इसमें अधुनिक युग की किसी भी शैली का प्रयोग नही किया गया हैं। जैसा की आप जानते हैं आजकल फव्वारों में पाइपलाइन डाली जाती हैं। ताजमहल में ऐसा कुछ नही हैं बल्कि ये ऐसा काम इसलिए करते हैं क्योंकि इसमें नीचे तांबे का एक विशाल टैंक बना हुआ हैं, जिसमे पानी एक साथ भरता भी हैं और एक साथ फव्वारों से निकलता भी हैं।
10. सबसे ज्यादा पर्यटक - ताजमहल को दुनिया में एक दिन में सबसे ज्यादा देखी जानी वाली ईमारत में से एक कहा जाता हैं। ताजमहल देश विदेश से आए सैलानी द्वारा देखा जाता हैं। जिनकी संख्या लगभाग बारह हज़ार तक होती हैं। इसलिए ये विश्व की एक दिन में सबसे ज्यादा देखी जाने वाली इमारत में शामिल हैं।

11. काले ताजमहल का सपना - क्या आपको पता हैं की शाहजहाँ ने मुमताज़ की याद में जो सफ़ेद ताजमहल बनवाया था उसकी खूबसूरती देख शाहजहाँ के मन में आया क्यूं न खुद अपने लियें एक काला ताजमहल बनाया जाए। परन्तु शाहजहाँ का ये सपना, सपना ही रह गया, क्योंकि उसके बेटे औरंगज़ेब ने उसे बंदी बना लिया था।
12. ताजमहल के साथ सबसे पहली सेल्फी - दोस्तों क्या आप जानते हैं की ताजमहल के साथ सबसे पहले सेल्फी जॉर्ज हैरिसन ने ली थी। जॉर्ज ने इस सेल्फी में फिश ऑई लेंस का प्रयोग किया था।
13. ताजमहल का रंग बदलना - क्या आपने कभी गौर किया हैं की ताजमहल का रंग भी बदलता हैं। अगर नही तो अगली बार जब कभी ताजमहल देखने जाए तो ये ध्यान से देखे क्योकि ये एकदम सत्य हैं। इसका रंग पहर के हिसाब से बदलता हैं अगर हम इसे सुबह में देखेंगे तो यह हल्के गुलाबी रंग का दिखता हैं और शाम को दुधिया सफ़ेद रंग का दिखता हैं और अगर ताजमहल को चांदनी रात में देखेगे तो पाएंगे की यह हल्के सुनहरे रंग का हो गया हैं।