दुनिया के 3 सबसे बड़े मुस्लिम वैज्ञानिक जिन्होंने विज्ञान की परिभाषा बदल दी। जरूर देखें। - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

दुनिया के 3 सबसे बड़े मुस्लिम वैज्ञानिक जिन्होंने विज्ञान की परिभाषा बदल दी। जरूर देखें।

आप सभी का हमारे चैनल में बहुत-बहुत स्वागत है हम आपके लिए एक बेहतरीन आर्टिकल लेकर आएं मैं आशा करता हूं आप सभी को पसंद आएगा।

आज हम आपको दुनिया के ऐसे मुस्लिम वैज्ञानिकों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनके आविष्कारों ने दुनिया को बदल दीया। आइए जानते हैं इन वैज्ञानिकों के बारे में।

1-जाबिर बिन हायान
जाबिर अरब के महान वैज्ञानिक थे। जाबिर बिन हाय्यान को आधुनिक कैमिस्ट्री का जनक माना जाता है। इन्होंने श्वेत-शीसा, एन्टिमनी, आर्सेनिक आदि धातुओं के निष्कासन के पद्धति का आविष्कार किया। जाबिर ने ही सबसे पहले तेजाब की खोज की थी। इस वैज्ञानिक ने एक ऐसे पेन का आविष्कार किया जिसका लिखा आप अंधेरे में भी पढ़ सकते थे।

2-इब्न अल हैसम


इब्न अल हैशम का पूरा नाम अबू अली अल हसन बिन अल हैशम है ये ईराक के एतिहासिक शहर बसरा में 965 ई में पैदा हुए ,इन्हें भौतिक विज्ञान ,गणित,इंजीनियरिंग और खगोल विज्ञान में महारत हासिल थी ,इब्न अल हैशम अपने दौर में नील नदी के किनारे बाँध बनाने चाहते थे ताकि मिश्र के लोगों को साल भर पानी मिल सके लेकिन अपर्याप्त संसाधन के कारण उन्हें इस योजना को छोड़ना पड़ा , इन्होंने ही कैमरे का अविष्कार किया था तथा आंख के काले वाले हिस्से का नाम इन्होंने ही लेंस रखा था।


3- इब्न सीना
अबू अली सीना फारस के विद्वान, दार्शनिक एवं चिकित्सक थे। उन्होंने विभिन्न विषयों पर लगभग 450 पुस्तके लिखी है। जिनमें से 240 पुस्तके अभी पर्याप्त हैं। इसमें से 24 पुस्तकें चिकित्सक विज्ञान से संबंधित है। उनकी सुविख्यात पुस्तक का नाम कानून है। इस वैज्ञानिक ने ही सबसे पहले वायरस की खोज की और बताया कि बीमारियां वायरस के द्वारा शरीर में प्रवेश करती है। उसने अपनी किताब अल कानून में 800 से भी ज्यादा चिकित्सक के उपाय बताएं। उन्होंने ही सबसे पहले हेपेटाइटिस का इलाज खोजा।