ये हैं दुनिया के 5 सबसे खतरनाक आतंकवादी, जिनसे कांपती है पूरी दुनिया - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

ये हैं दुनिया के 5 सबसे खतरनाक आतंकवादी, जिनसे कांपती है पूरी दुनिया

वर्तमान समय मे पूरी दुनिया आतंकवाद का सामना कर रही है। दुनिया मे आज भी कई ऐसे आतंकी संगठन है जो अभी भी काफी सक्रिय हैं और दुनिया भर में अपना पैर जमाने की कोशिश कर रहे हैं। इसमे से कई ऐसे देश भी हैं जो अपने देश मे पल रहे आतंकवाद से लड़ रहे हैं। तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको दुनिया के उन 5 सबसे खतरनाक आतंकवादियों के बारे में बताने जा रहे हैं। जिनसे पूरी दुनिया कांपती है।

1. अबू बकर अल बगदादी (आईएसआईएस)


बगदादी दुनिया मे सबसे खतरनाक आतंकवादी माना जाता है। अबू बकर अल बगदादी ने दुनिया मे सबसे क्रूर आतंकवादी संगठन आईएसआईएस की स्थापना की थी। आईएसआईएस ने उत्तरी इराक और पश्चिमी सीरिया पर कब्जा कर रखा है। फिलहाल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अबू बकर अल बगदादी के मारे जाने की पुष्टि की है।

2. अल जवाहिरी (अलकायदा)


अल जवाहिरी को दुनिया का दूसरा सबसे खतरनाक आतंकवादी माना जाता है। आतंकी संगठन में शामिल होने से पहले अल जवाहिरी ने काहिरा विश्वविद्यालय से सर्जरी में मास्टर डिग्री हासिल की थी। वह डॉक्टरों और विद्वानों के एक सम्पन्न और अमीर घराने से ताल्लुक रखता है।

3. जलालुद्दीन हक्कानी (तालिबान)


इस आतंकी संगठन की स्थापना मोहम्मद उमर ने की थी। तालिबान आतंकी संगठन का सरगना जलालुद्दीन हक्कानी दुनिया का तीसरा सबसे खतरनाक आतंकवादी माना जाता है। इस आतंकी संगठन ने सन 1996 से लेकर सन 2000 तक अफगानिस्तान की सत्ता संभाली है।

4. मौलाना फजलुल्लाह (टीटीपी)


मौलाना फजलुल्लाह दुनिया के टॉप-5 आतंकवादियों की लिस्ट में चौथे नंबर पर आता है। यह दुनिया का सबसे खतरनाक और क्रूर आतंकवादी है। मौलाना फजलुल्लाह तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का आतंकी संगठन का मुख्य सरगना है।

5. अबू बकर शेकाउ (बोको हरम)

अबू बकर शेकाउ दुनिया के पांचवा सबसे क्रूर और खतरनाक आतंकवादी माना जाता है। यह बोको हरम का मुख्य सरगना है। अफ्रीकी देशों में अबू बकर शेकाउ का आतंक सबसे ज्यादा है। यहाँ के कई देशों की सरकार इसके नाम से ही कांपती हैं। यह नाइजीरिया समेत कई अफ्रीकी देशों में इस्लामिक राज और शरिया कानून को लागू करना चाहता है।