इन 8 तरीकों से पता लगा सकते हैं कि आप जो चीजें खा रहे हैं, वे सही हैं या गलत - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

इन 8 तरीकों से पता लगा सकते हैं कि आप जो चीजें खा रहे हैं, वे सही हैं या गलत

दोस्तो, हम लोग खाने-पीने की चीज़ों को लेकर बहुत बार गलतियां कर देते हैं। इस तरह की भूल हमारे स्वास्थ्य पर खराब प्रभाव डालती हैं। इसलिए आज हम आपको 10 ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं जिनसे आप सही और गलत की पहचान कर पाएंगे। चलिए देखते हैं -

1. अंडा

यदि अंडा सही है, तो उसकी जर्दी का रंग गहरा पीला व उससे निकलने वाला स्त्राव गाढ़ा व कम फैला होगा। जबकि खराब अंडे की जर्दी का रंग कम पीला या हल्का काला हो सकता है और उसमें से निकला स्त्राव पानी की तरह फैल जाता है।

2. तारीख

इस तस्वीर में दिखाए अनुसार किसी भी तरह के प्रोडक्ट की पैकजिंग पर तारीख़ लिखी होती है। यह तारीख दो तरीके से लिखी हो सकती है। एक इंडियन व दूसरी जूलियन कैलेंडर के हिसाब से। यदि आप किसी प्रोडक्ट की पैकिंग पर एक नंबर लिखा हुआ देखते हैं, तो समझ जाएं कि यह सामान एक्सपायर होने वाला है।

3. नेचुरल व फैट फ्री

बाजार में ऐसे बहुत सारे प्रोडक्ट मिलते हैं जिनपर सौ प्रतिशत नेचुरल व फैट फ्री लिखा होता है। आप लोग इन बातों पर ना जाकर प्रोडक्ट पर लिखे High Fructose और Sodium की मात्रा को जरूर चेक करें। आप समझ पाएंगे की चीज सही में नेचुरल व फैट फ्री है या नहीं
4. रंग


बहुत बार देखा जाता है कि अधिकांश लोग किसी चीज़ का गहरा व चमकदार रंग देखकर उसे ख़रीद लेते हैं। लेकिन रंग से हम नहीं जान सकते की वह चीज़ ऑर्गेनिक है या नहीं। आपको इसको जांचने के लिए उसमें मौजूद Ingredients से चेक करें।

5. मल्टीग्रेन ब्रेड

बाजार में मिलने वाली ब्रेड 100 प्रतिशत मल्टीग्रेन नहीं हो सकती वह तभी होती है, जब हम इसे घर पर ख़ुद से बनाते हैं। बाज़ार की ब्रेड पर भले ही 100% लिखा लेकिन इसमें 78% हेल्दी फ़ाइबर, विटामिन और Minerals गायब रहते हैं, यानी की लगभग 22% ही मल्टीग्रेन होती है।

6. नो शुगर

डायबिटीज के रोगियों के लिए नो शुगर वाली चीज़ें बाजार में मिलती हैं लेकिन उनमें भी शुगर की मात्रा हो सकती है। प्रोडक्ट पर भले ही लिखा भी हो लेकिन आप शुगर फ़्री चीज़ों पर यकीन ना करें। हमेशा अच्छे और विश्वास वाले ब्रांड की ही चीजें यूज करें।

7. केला

तस्वीर में देख सकते हैं जिस केले पर काले रंग के डाॅट वाले दाग हो तो वह नेचुरल पका हुआ अच्छा केला होता है। यदि केले का छिलका बिल्कुल साफ व पीले हरे व सख्त हो तो समझ लें यह केमिकल से पकाया गया है। इसके अलावा टेल टूटा हुआ केला कभी ना खाएं क्योंकि उसमें ढेरों बैक्टीरिया हो सकते हैं।

8. खीरा

अच्छा व ताजा खीरा गहरे हरे रंग का व सख्त होता है। जबकि नरम व पीले या सफेद रंग लिए हुए खिरा खराब होता है।