माथे की लकीरों पर भाग्य-दुर्भाग्य सब है निर्भर, जानिये क्या कहती है आप की माथे की लकीरें - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

माथे की लकीरों पर भाग्य-दुर्भाग्य सब है निर्भर, जानिये क्या कहती है आप की माथे की लकीरें

हस्‍तेरखा विज्ञान भारत में बहुत फेमस हैं. इसमें आपके हाथों की लकीरों को देख आपका भविष्य बताया जाता हैं. बहुत कम लोग ये बात जानते हैं कि हाथों के आलावा माथे की रेखओं को पढ़कर भी आप अपने आने वाले कल की जानकारी हासिल कर सकते हैं. 



आज हम आपको अपने माथे यानी मस्तक की रेखाओं की जानकारी देने जा रहे हैं. इन्हें आप सही ढंग से स्टडी करे तो अपने भविष्य के बारे में सबकुछ पता लगा सकते हैं. तो चलिए फिर बिना किसी देरी के जानते हैं कि कैसे आप अपने माथे की लकीरों से अपने आने वाले कल का पता लगा सकते हैं.

मस्तक की पहली रेखा

माथे की पहली लकीर पैसो की मानी जाती हैं. ये रेखा आपकी भौहों के सबसे नजदीक होती हैं. यदि ये रेखा साफ़ और गहरी होती हैं तो व्यक्ति की आर्थिक स्थिति मजबूत रहती हैं. वहीं इस लकीर के टूटे फूटे या हल्की होने पर व्यक्ति का जीवन पैसो की समस्याओं और अन्य कठिनाइयों से होकर गुजरता हैं.
मस्तक की दूसरी रेखा

माथे की दूसरी लकीर को सेहत की रेखा माना जाता हैं. यदि ये हल्की हो तो आप समय समय पर बीमार होते रहते हैं. इसके विपरीत ये रेखा गहरी या स्पष्ट हो तो आपकी सेहत अच्छी रहती हैं. ये लकीर यदि बीच में से टूट जाए या निचे हो जाए तो समझो वो व्यक्ति लम्बे समय तक किसी बिमारी से ग्रसित रहने वाला हैं.
मस्तक की तीसरी रेखा

ये लकीर बहुत कम लोगो के माथे पर पाई जाती हैं, हालाँकि जिसके भी मस्तक पर ये रेखा होती हैं वो बेहद भाग्यशाली होता हैं. फिर ये रेख भले छोटी क्यों ना हो. ऐसे व्यक्ति पर माँ लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती हैं. उसे जीवन में सभी भौतिक सुख सुविधाएं मिलती हैं.
मस्तक की चौथी रेखा

यह रेखा जिसके भी माथे पर होती हैं उसके जीवन में बहुत उतार चढ़ाव आते हैं. यह लोग उम्र के 27 से 47 के पढ़ाव के बीच करियर में सफलता हासिल करते हैं. इनका बिजनेस भी अच्छा ख़ासा चलता हैं. ये अपनी खुद की कमाई से शानदार घर भी बनाते हैं. हालाँकि ये लकीर भी बहुत कम लोगो के माथे पर देखने को मिलती हैं.

मस्तक की पांचवी रेखा

ये रेखा थोड़ी खतरनाक होती हैं. वैसे तो ये भी कम ही पाई जाती हैं लेकिन जिसके माथे पर भी ये होती हैं वो दुर्भाग्य का शिकार बन जाता हैं. ये लकीर एक सफल और अमीर व्यक्ति को भी बर्बाद कर रोड पर ला सकती हैं.

मस्तक की छठी रेखा

यह आपके माथे की अंतिम रेखा होती हैं. इस रेखा को दैवीय लकी भी बोला जाता हैं. यह अक्सर ऋषि मुनियों के माथे पर देखने को मिलती हैं. इस लकीर वाले व्यक्ति को जीवन में बहुत मान सम्मान प्राप्त होता हैं. वो जीवन में खूब तरक्की भी करता हैं. हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये जानकारी अवश्य पसंद आई होगी. अब फटाफट आईने के सामने खड़े होकर अपने माथे की रेखाओं को ध्यान से देखे