इन नेताओं की पढ़ाई जानकर हैरान रह जाएंगे, आप जरूर पढ़िए - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

इन नेताओं की पढ़ाई जानकर हैरान रह जाएंगे, आप जरूर पढ़िए

दोस्तो राजनीति या राजनेता का नाम लेते ही हमारे मन मे आता है कि पोलटिक्स में अनपढ़ गुंडे मवाली या अशिक्षित लोग ही आते हैं लेकिन इसके विपरीत भी बहुत से राजनेता हैं जिनकी पढ़ाई शिक्षा देखकर अचंभित रह जाओगे आइये देखते हैं

 श्रीकांत जिचकार


श्रीकांत जिचकार महाराष्ट्र के कांग्रेस के नेता थे। देश के सबसे शिक्षित राजनेताओं में इनका नाम यकीनन नंबर वन होता। क्योंकि इन्होंने दुनियाभर की 42 यूनिवर्सिटीज से 20 डिग्रियां और 28 गोल्ड मैडल हासिल किए हैं। साथ ही आईएएस और आईपीएस भी पास रहे हैं। लेकिन देश के लिए ये राजनीति में आये और एक ही बार दस से ज्यादा विभाग ये संभालते थे। लेकिन 2004 में एक सड़क हादसे में इनकी मौत हो गई। इसके बावजूद बहुत ही कम समय में राजनीति में जो छाप इन्होंने छोड़ी है, उसके लिए ये हमेशा याद रखे जाएंगे।

कपिल सिब्बल

कपिल सिब्बल एक भारतीय राजनीतिज्ञ तथा वे पूर्व में भारत सरकार की पंद्रहवीं लोकसभा के मंत्रीमंडल में मानव संसाधन मंत्रालय में मंत्री बनाया गया। 

कपिल सिब्बल दिल्ली के चाँदनी चौक लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं, एवं चौदहवीं लोकसभा के गठन के बाद केन्द्रीय मंत्रिमंडल में विज्ञान एवं तकनीकी मामलों के साथा साथ भू वैज्ञानिक मामलों के कैबिनेट मंत्री रहे। कपिल सिब्बल ने 2016 हिंदी फिल्म शोरगुल के लिए गीत "तेरे बिना" और "मस्त हवा" के गीतों को लिखा है।


अरविंद केजरीवाल


अरविंद केजरीवाल एक भारतीय राजनीतिज्ञ, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं। अपने पहले कार्यकाल के दौरान वह २८ दिसम्बर २०१३ से १४ फ़रवरी २०१४ तक इस पद पर रहे। इससे पहले वो एक सामाजिक कार्यकर्ता रहे हैं और सरकारी कामकाज़ में अधिक पारदर्शिता लाने के लिये संघर्ष किया। 


आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री। ये एक आईआरएस अफसर भी रह चुके है। केजरीवाल ने आईआईटी

पी चिदंबरम

पलनिअप्पन चिदंबरम भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से संबद्ध एक भारतीय राजनीतिज्ञ एवं भारत गणराज्य के पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री है। इसके अलावा चिदंबरम एक स्थापित कंपनी मामलों के वकील है जिन्होंने अब दिवालिया हो चुकी एनरॉन सहित कई प्रसिद्ध संस्थाओं के लिए पैरवी की है। 



कांग्रेस के नेता और यूपीए की सरकार में मंत्री रहे चुके है। चिदंबरम ने प्रेसिडेंसी कॉलेज से स्टैटिस्टिक्स में डिग्री ली, उसके बाद मद्रास लॉ कॉलेज से एल एल बी की है। इसके बाद उन्होंने हारवर्ड बिजनेस स्कूल से एमबीए किया है।

जयराम रमेश

श्री जयराम रमेश को भारत सरकार की पंद्रहवीं लोकसभा के मंत्रीमंडल में वन एवं पर्यावरण में मंत्री रहे।


ज्योतिरादित्य सिंधिया

ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया भारत सरकार की पंद्रहवीं लोकसभा के मंत्रिमंडल में वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री रह चुके हैं। ये लोकसभा की मध्य प्रदेश स्थित गुना संसदीय सीट का प्रतिनिधित्व करते थे। ज्योतिरादित्य सिंधिया मनमोहन सिंह के सरकार में केन्द्रीय मंत्री रहे हैं यह गुना शहर से कांग्रेस के विजयी उम्मीदवार रहे हॆं। 


इस वक्त देश की राजनीति में एक अहम भूमिका निभा रहे है। उन्होंने अपनी स्कूली पढ़ाई डून स्कूल से की है, और हार्वर्ड से इकोनॉमिक्स की उच्च शिक्षा ली है।

सुब्रह्मण्यम स्वामी

डॉ॰ सुब्रह्मण्यम् स्वामी जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं। वे सांसद के अतिरिक्त 1990-91 में वाणिज्य, विधि एवं न्याय मन्त्री और बाद में अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार आयोग के अध्यक्ष भी रहे। 1994-96 के दौरान विश्व व्यापार संगठन के श्रमिक मानकों के निर्धारण में उन्होंने प्रभावी भूमिका निभायी। 



राज्य सभा के सांसद है, इस वक्त बीजेपी में है। उन्होंने आईएसआई कोलकाता से स्टैटिस्टिक्स की उच्च शिक्षा ली है। इसके बाद अपनी पीएचडी हारवर्ड यूनिवर्सिटी से की है।

डॉ मनमोहन सिंह

मनमोहन सिंह भारत गणराज्य के १३वें प्रधानमन्त्री थे। साथ ही साथ वे एक अर्थशास्त्री भी हैं। लोकसभा चुनाव २००९ में मिली जीत के बाद वे जवाहरलाल नेहरू के बाद भारत के पहले ऐसे प्रधानमन्त्री बन गये हैं, जिनको पाँच वर्षों का कार्यकाल सफलता पूर्वक पूरा करने के बाद लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने का अवसर मिला है। 
भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और एक प्रसिध अर्थशास्त्री। उन्होंने ऑक्सफर्ड से अर्थशास्त्र में डॉक्टरी की है।