चाणक्य की एक ऐसी नीति, जो हर घर में है जरूरी - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

चाणक्य की एक ऐसी नीति, जो हर घर में है जरूरी

चाणक्य की बताई गई नीतियां व्यावहारिक जीवन में काफी लाभदायक मानी गई हैं, वर्तमान में भी ये नीतिया बेहद उपयोगी हैं, उन्होंने एक श्लोक के माध्यम से एक खुशहाल घर की जरूरतों के बारे में बताया है।


घर में सुख और शांति हो तो मनुष्य का जीवन भी बहुत ही सुख के साथ गुजरता है, कुशल अर्थशास्त्री आचार्य चाणक्य ने अपने नीति ग्रंथ में जीवन के रहस्यों को सुलझाने के लिए कई प्रकार के नीतियों का उल्लेख किया है। उनकी बताई गई नीतियां व्यावहारिक जीवन में काफी लाभदायक मानी गई हैं, वर्तमान में भी ये नीतिया बेहद उपयोगी हैं।

माता च कमला देवी पिता देवो जनार्दनः।

बान्धवा विष्णुभक्ताश्च स्वदेशो भुवनत्रयम्॥

इस श्लोक के माध्यम से आचार्य चाणक्य ये कहना चाहते हैं कि घर में मां अगर लक्ष्मी के समान होती है, तो घर स्वर्ग के समान हो होता है, माना जाता है कि ऐसी मां अपने संतान को अच्छी शिक्षा और संस्कार देती है, साथ ही अपनी संतान को जीवन में सही रास्ते पर आगे बढ़ने की प्रेरणा देती है, और इसी वजह से ऐसे घरों में लक्ष्मी का वास होता है और उस घर में कभी परेशानी नहीं आती।


चाणक्य कहते हैं कि घर की सारी परेशानियों को खुद में समाहित करके अपने परिवार को सुखी रखने वाला पिता अपनी जिंदगी में हमेशा सफल होता है, माना जाता है कि ऐसे पिता भगवान विष्णु के समान होते हैं और उनका आवास बिल्कुल बैकुंठ की तरह होता है, ऐसे लोगों की लालसा अपने जीवन में बहुत ज्यादा पाने की नहीं होती बल्कि उनके पास जितना उपलब्ध रहता है उसी में खुश रहते हैं और लालच में पड़कर ज्यादा के चक्कर में कर्ज लेने से बचते हैं।

ऐसा कहा जाता है कि जिस घर में संतान संस्कारी और समझदार हो और वो अपने माता-पिता का कहना मानता हो और भाई-बहन के साथ बहुत ही शिष्टाचार व स्नेह के साथ रहता हो, वो घर भी किसी स्वर्ग से कम नहीं होता, ऐसे घरों में विकट से विकट स्थिति में भी परिवार के सदस्य मिलकर खुद ही परेशानी को खत्म कर देते हैं, ऐसा घर संपन्न रहता है और ऐसे घर में कभी किसी प्रकार की समस्या नहीं आती।