स्कूल में बताई गयी 5 बातें जो गलत साबित हो चुकी हैं - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

स्कूल में बताई गयी 5 बातें जो गलत साबित हो चुकी हैं

दोस्तों स्कूल एक ऐसा पवित्र स्थान है जहां हमें अनगिनत ज्ञान मिलती है लेकिन आजकल विज्ञान काफी विकसित हो गया है। इसलिए स्कूल में बताई गई कई ऐसी बातें हैं जो आज गलत साबित हो चुकी है। फिर भी हम आज उन बातों पर विश्वास करते हैं और सच मानते हैं। तो दोस्तों चलिए जानते हैं स्कूल में बताई गई 5 बातें जो आज गलत साबित हो चुकी है।

1- गिरगिट का रंग बदलना


स्कूल के प्रथम कक्षा से ही हमें गिरगिट से जुड़ी एक गलत बात बताई गई है। दरअसल स्कूल में हमें यह बताया गया है कि गिरगिट अपना रंग इसीलिए बदलते हैं ताकि वह खुद को अपने वातावरण के हिसाब से बदल कर अपने आप को दुश्मन जीवो से छुपा कर रख सके। लेकिन साल 2006 में कैलिफोर्निया के एक यूनिवर्सिटी में हुए रिसर्च में यह बात पूरी तरह से गलत साबित हुई है। रिसर्च में जो नई जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक गिरगिट अपना रंग इसलिए बदलते हैं ताकि वह अपने शरीर का तापमान नियंत्रण में रख सके और अन्य गिरगिटों के साथ संपर्क बना सके।

2- चमगादड़ अंधे होते हैं


आप स्कूल में पढ़ा भी होगा और मानते भी होंगे कि चमगादड़ अंधे होते हैं। इसीलिए वो दिन में आराम करते हैं और रात को जब हर तरफ अंधेरा छा जाता है तब बाहर निकलते हैं। रात को बाहर निकालने के पीछे एक अजीब वजह भी बताई जाती है कि चमगादड़ अंधे होने के कारण जब बाकी जीव-जंतु सो जाते हैं तब बाहर निकलते हैं ताकि वह अन्य जीव-जंतुओं के साथ ना टकरा जाए। परंतु असलियत तो कुछ और है। आपको जानकर हैरानी होगी चमगादड़ इंसानों से 3 गुना ज्यादा अच्छे से किसी चीज को देख सकते हैं। इसीलिए यह बात भी गलत है कि चमगादड़ अंधे होते हैं।

3- बारिश की बूंदों का आंसुओं के आकर की होती हैं


दोस्तों आप यह तो पढ़ा ही होगा कि आसमान से गिरने वाली बारिश की बूंदे आंसुओं के आकार जैसी लगती है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी यूनाइटेड स्टेट ज्योग्राफिकल सर्वे के मुताबिक बारिश की बूंदे असल में हैमबर्गर या बीन के आकार की होती है और जब ये बड़ी होती है तो टूटकर आंसुओं का आकार में बनती है।

4- प्लूटो एक प्लेनेट नहीं है


जर्मनी के यूनिवर्सिटी के स्पेस साइंस की किताब में कुछ वर्ष पहले यह बताया गया था कि प्लूटो एक प्लानेट नहीं है। लेकिन इस पर विवाद बढ़ता देख यूनिवर्सिटी ने स्पेस साइंस की इस किताब को बैंड कर दिया। आपको बता दें IAU यानी अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ के मुताबिक प्लूटो आज भी एक प्लेनेट है और इसे हम बौना प्लेनेट के नाम से जानते हैं।

5- ऑक्सीजनरहित खून नीला होता है


आप स्कूल या कॉलेज में ये तो पढ़ा ही होगा कि ऑक्सीजनरहित खून नीला होता है। आपको बता दें खून का रंग नीला होने के पीछे रोशनी का महत्व होता है साथ ही यह इस चीज पर भी निर्भर करती है कि आपके टिशू किस तरह की रोशनी एब्सोर्ब कर रहे हैं। इसीलिए वैज्ञानिकों के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति किसी बीमारी से पीड़ित है और उसकी रोशनी एब्सोर्ब करने की क्षमता कम हो गई है तो ऑक्सीजनरहित खून का रंग बदल भी सकता है। लेकिन ऐसा मामला अभी तक सामने नहीं आया है।

दोस्तों आपको हमारी यह जानकारी कैसी लगी हमें नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताना और आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगी तो लाइक कर देना और अपने दोस्तों के साथ शेयर कर देना और आगे भी ऐसे ही जानकारी सबसे पहले पाने के लिए ऊपर दिए गए फॉलो बटन को दबाकर हमें फॉलो कर देना।