इस्लामिक सेंटर फिरोजाबाद ने अलविदा जुमा और ईद की नमाज को लेकर जारी की एडवाइजरी - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

इस्लामिक सेंटर फिरोजाबाद ने अलविदा जुमा और ईद की नमाज को लेकर जारी की एडवाइजरी

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo

अज़हर उमरी
इस्लामिक सेंटर फिरोजाबाद ने लॉक डाउन के चलते रमजान के आखिरी जुमा (अलविदा जुमा) और ईद की नमाज को लेकर एडवाइजरी जारी की है।

- मस्जिद में सारी नमाजो की तरह  अलवदा जुमा और ईद की नमाज भी मस्जिद में रहने वाले सिर्फ 5 लोग ही अदा करें | 

- अगर घर में 4 लोग हैं और कोई नमाज पढ़ा सकता है तो घर के बाहरी हिस्से में जुमे की नमाज और ईद की नमाज जमात से भी पढ़ सकते हैं, जुमे की नमाज में खुत्बा देना जरूरी है मगर ईद की नमाज में यह सुन्नत है, अगर नहीं देंगे तो भी नमाज हो जाएगी | 

- ज्यादातर घरों में  कोई  इमामत करने वाला नहीं होगा, तो ऐसे लोग जुमे (अलवदा) के दिन जोहर की नमाज पढ़ें, और ईद के दिन ईद की नमाज के वक्त में घरों पर अपनी अपनी 4 रकात नफिल पढ़ लें | मजबूरी की वजह से इंशा-अल्लाह पूरा सवाब मिलेगा | 

-ईद के दिन एक अहम काम -जिसका क़ुरान में बयान है- वह है: तकबीर कहना, तकबीर कहते हैं अल्लाह की (ईश्वर की) बड़ाई को (महानता को) बयान करना, जिसके अल्फाज यह हैं : अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर ला इलाहा इल्लल्लाह, अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर व लिल्लाहिल हम्द | 
यह तकबीर ईद के दिन सुबह के वक्त घरों में बार-बार पढ़ी जाए, इसके अलावा सुन्नत के मुताबिक ईद के दिन ग़ुस्ल करें, अपने पास मौजूद साफ-सुथरे कपड़े पहनें, खुशबू लगाएं, कुछ मीठा खाएं | 

- जो भी मिडिल क्लास या मालदार लोग हैं वह नमाज से पहले अपने और अपने परिवार के हर छोटे और बड़े की तरफ से गरीबों को कम से कम 50-50 रुपये सदका ए फित्र (दान) देना न भूलें, यह सदका (दान) वाजिब (अनिवार्य) है | हर एक की तरफ से अलग अलग ₹50 निकाले जाएंगे  |

- ईद की नमाज सूरज निकलने के 20 मिनट बाद से सूरज के ज़वाल तक (लगभग 12:15 बजे  दोपहर तक) पढ़ी जा सकती है, मगर अच्छा यह है कि यह नमाज़ सूरज निकलने के बाद जल्द से जल्द पढ़ ली जाए|

- घर पर नमाज पढ़ाने वाले लोग किताब या मोबाइल में देख कर भी खुत्बा पढ़ सकते हैं | यह खुत्बा हमारे फेसबुक पेज Islamic Center Firozabad से डाउनलोड भी किया जा सकता है | 

- ईद के दिन भी लॉक डाउन की पाबंदी करें , अपने घरों में रहें और किसी से मिलने न जाए | और न ही गलियों में, चौराहों पर, सड़कों पर भीड़ लगाएं |  इसी तरह ईद की मुबारकबाद देते हुए गले भी न मिलें | 

- ईद की मुबारकबाद फोन और सोशल मीडिया के ज़रिए दें | 

- कोई भी बात पूछनी हो तो इस्लामिक सेंटर के हेल्पलाइन नंबर पर फोन करके या व्हाट्सएप कर के पूछ सकते हैं -  7017311406, 9045006777

- पूरी दुनिया से कोविड-19 के खात्मे की दुआ करें | 

- ईद के दिन सुबह 9:30 बजे इस्लामिक सेंटर के फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल Islamic Center fzd पर एक मुबारकबाद का पैगाम और कुछ जरूरी बातें बयान की जाएंगी, घरों पर रहकर सोशल मीडिया के जरिए उन बातों को भी जरूर सुने और दूसरों तक पहुंचाएं |