पंचायत चुनाव: मतपत्रों के कागज व छपाई का टेंडर ऑनलाइन - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

पंचायत चुनाव: मतपत्रों के कागज व छपाई का टेंडर ऑनलाइन

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo

राकेश पाण्डेय

लखनऊ। यूपी के गांवो में अपनी सरकार बनाने को शुरू हो गया जोड़तोड़, सीटों के आरक्षण पर चर्चा तेज प्रधानी का चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे लोगों के लिए राहत भरी खबर. 

राज्य मुख्यालय राज्य निर्वाचन आयोग ने भी पंचायत चुनाव की तैयारियों में जुट गया है।मंगलवार को राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार आयोग कार्यालय पहुंचे और अधिकारियों के साथ चुनाव की तैयारियों पर विचार विमर्श किया। 

जारी हो गयी है चुनाव सामग्री की आनलाइन निविदा

इससे पूर्व 21 मई को आयोग प्रदेश में होने वाले पंचायत चुनावों के लिए मतपत्रों की छपाई के लिए सफेद, हरे, गुलाबी व नीले रंग के 2350 मीट्रिक टन कागज की आपूर्ति और अनुमानित 47.5 करोड़ मतपत्रों की 4,6,9,12,18,27,36,45- और 54 चुनाव चिन्हों के साथ छपाई की आनलाइन निविदा आमंत्रित कर चुका है। 

सफेद, हरे, नीले व गुलाबी कागजो पर छपेगे मतपत्र

यह सफेद, हरे, गुलाबी व नीले रंग के कागज पर छापी जाएगी। निविदा जमा करने की आखिरी तारीख 17 जून रखी गई है। बीती 25 मई को  में पंचायतीराज मंत्री चौधरी भूपेन्द्र सिंह कोरोना संकट की वजह से पंचायतों का कार्यकाल बढ़ाने की सम्भावना नकार चुके हैं।

गांवो मे होने लगी सरकार बनाने की सुगबुगाहट

मंत्री के इस बयान के बाद गांवों में इन चुनावों को लेकर सक्रियता बढ़ चली है। पंचायतीराज मंत्री के बयान के बाद दूर होते ही गांव में अपनी सरकार बनाने को जोड़तोड़ शुरू हो गई है। इसी के साथ ग्राम पंचायत से लेकर क्षेत्र व जिला पंचायतों में निकट भविष्य में नए सिरे से होने वाले सीटों के आरक्षण पर चर्चाएं भी तेज हो चली हैं। ग्राम प्रधान, पंचायत सदस्य, क्षेत्र व जिला पंचायत सदस्यों, अध्यक्षों तक को चिन्ता सताने लगी है।इस बार चुनाव लड़ने के लिए कमर कसे नए उम्मीदवारों में भी उत्सुकता बढ़ रही है कि उनकी ग्राम पंचायत, क्षेत्र व जिला पंचायत सदस्य की सीट अब किस वर्ग के लिए आरक्षित होगी। 

20661 प्रधानो का हुआ था पिछली बार चुनाव

2015 में हुए पिछले पंचायत चुनाव में हुए चक्रानुक्रम आरक्षण में कुल 59074 पंचायतों में से ग्राम प्रधान के कुल 20661 पद अनारक्षित थे। जबकि 9900 पद महिला के लिए, 10368 पद अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए, 5577 पद अन्य पिछड़ा वर्ग महिला के, 7885 पद अनुसूचित जाति, 4344 पद अनुसूचित जाति महिला, 205 पद अनुसूचित जनजाति व 134 पद अनुसूचित जनजाति महिला के लिए आरक्षित किये गये थे।