अलविदा जुमा आज, जानिए क्या करें मुसलमान? - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

अलविदा जुमा आज, जानिए क्या करें मुसलमान?

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
अज़हर उमरी
मौहम्मद अरशद खान रज़वी फिरोज़ाबादी ने कहा कि रमज़ान उल मुबारक का महीना चल रहा है। और ये महीना खत्म होने मैं 2 दिन बाकी हैं। जिससे रमज़ान में बे पनाह बरकत और रहमत हैं और इबादतों मैं भी सुरुर है , अब वो रोनकें खत्म हो जायेंगी । उसके बाद चाँद देखकर ईद होगी। 

इस बार के रमज़ान COVID 19 लोकडाउन  की वजह से बगैर मस्जिदों में जाये गुजरें हैं, जुमा भी नहीं हुआ, घरों में जुमा की जगह लोगों ने जु़हर की नमाज़ अदा की है।और अलविदा जुमा भी पिछले जुमो की तरह घर में नमाजे़ ज़ुहर अदा करें.

कोई भी इफ्तार तरकीब नहीं हुई इस लिये ईद की खुशी में वो दिलचस्पी भी नहीं रही। मस्जिदें बन्द हैं और हम ईद की खुशियों में मसरूफ रहें। ये हमें गवारा नहीं।  हमारे मुल्क में लोगों को खाना भी मयस्सर नही है। 

पूरा हिन्दुस्तान आर्थिक मन्दी से गुजर रहा है  यानी पूरे देश के हालात खराब हैं. पूरी दुनिया में ऐसा नई नसल पहली बार देख रही है। 

ईद तो अस्ल अल्लाह पाक के शुकराने का नाम है। जिसने रोजे़ रखे अस्ल ईद तो उसकी है।

वक्त के खलीफा थे हजरत अमीरुल मोमेनीन सय्यदना उमर बिन अब्दुल अज़ीज़ ईद के दिन उन्होंने और उनके बच्चों ने भी ईद पर नये कपड़े नहीं पेहने थे।जबकि वो वक्त के खलीफा यानी बादशाह थे, जब वो सादगी से ईद मना सकते हैं, तो हम क्यों नही। हम अपनी ईद तो पुराने कपड़ों से भी कर सकते हैं।  इस लिये हमें भी चाहिए कि हम खरीदारी से बचें, शापिंग से बहतर है किसी गरीब के काम आना। गरीबों को खाना और कपड़े पहनाना, बे सहारों का सहारा बनना।

मगर इस बार का अलविदा जुमा और ईद भी तारीखी होगी। क्योंकि हुकूमत ने मस्जिदों में भीड़ वाली नमजों की परमीशन नहीं दी है। वही सिर्फ पांच आदमियों की इजाज़त है और ईद इस तरह नहीं होती। इस लिये लोग ईद की नमाज़ ईदगाह और दीगर मस्जिदों मैं न जा कर अपने घरों में चार रकात नमाजे़ चाशत एक नियत से अदा करें, इस का  वक्त सुबह 8 बजे से 10 बजे के दरमियान का होगा। और ये नमाज़ बगैर जमात के घर में अदा करें.

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहें,  चेहरे पर मास्क लगायें और अपने परिवार के साथ खुशी खुशी ईद मनायें। सरकार की गाईड लाइन का पालन करते रहैं। अपने मुल्क हिन्दुस्तान के लिए भी दुआ करते रहें।