यूपी में करोना संक्रमण का रिकवरी दर 61 प्रतिशत से अधिक : प्रमुख सचिव स्वास्थ्य - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

यूपी में करोना संक्रमण का रिकवरी दर 61 प्रतिशत से अधिक : प्रमुख सचिव स्वास्थ्य

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
लखनऊ। उ.प्र. के प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने आज यहां बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। कल 13,966 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 75 जनपदों में 5,259 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 8,904 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं।

प्रदेश में वर्तमान में करोना संक्रमण का रिकवरी दर 61 प्रतिशत से अधिक है। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में 5,261 मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है और उनका उपचार किया जा रहा है जबकि 7,540 लोगों को फैसिलिटी क्वारेंटाइन में रखा गया है, जिनके सैम्पल की जांच की जा रही है। पूल टेस्ट के अन्तर्गत कुल 1204 पूल की जांच की गयी, जिसमें 1082 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 122 पूल 10-10 सैम्पल के रहे।

लोकभवन में आयोति प्रेसवार्ता में प्रसाद ने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा अब तक 16,75,579 लाख कामगारों/श्रमिकों से उनके घर पर जाकर सम्पर्क किया गया, जिनमें से 1463 लोगों में करोना जैसे कोई न कोई लक्षण पाया गया है। उन्होंने बताया कि ग्राम एवं मोहल्ला निगरानी समितियों के द्वारा निगरानी का कार्य सक्रियता से किया जा रहा है। अब तक 1.23 लाख सर्विलांस टीम द्वारा 93,42,785 घरों के 4,76,56,168 करोड़ लोगों का सर्वेक्षण किया गया है।

उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप से जो अलर्ट जनरेट आने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा निरन्तर फोन किया जा रहा है, अब तक 83,462 लोगों को कन्ट्रोल रूम द्वारा फोन कर जानकारी प्राप्त की गयी। जिसमें से 166 कारोना संक्रमित है और उनका ईलाज चिकित्सालय में चल रहा है, 3415 लोग होम क्वारेंटाइन है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 536 फैसिलीटीज में 1,01,236 बेड की व्यवस्था है। 139 फैसिलीटीज में कोरोना संक्रमित मरीजों को रखा गया है।

उन्होंने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश के क्रम में कोविड केयर के साथ-साथ नॉन कोविड केयर के अंतर्गत आकस्मिक चिकित्सा सेवाएं एवं आपरेशन की सुविधा समस्त सरकारी अस्पतालों में मरीजों को दी जा रही है। उन्होंने बताया कि नॉन कोविड चिकित्सा सेवाएं सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ 3324 निजी चिकित्सालय भी अपनी सेवाएं दे रहे है। टी0वी0, एच0आई0वी0 आदि अन्य रोगों के मरीजों हेतु संबंधित क्लीनिक को संचालित करने की अनुमति दे दी गयी हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सभी निजी चिकित्सालयों को ट्रेनिंग एवं प्रोटोकॉल भी दिया गया है। 03 जूम सेशन के माध्यम से 2500 से अधिक नोट्स पर उनका प्रशिक्षण कराया गया। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण को रोकने में ग्राम एवं मोहल्ला समितियों की बड़ी भूमिका रही हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेशवासियों के जागरूक रहने से भी यह सम्भव हो पाया है कि इतने बड़े प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित रहा है। (आईपीएन)