सावधान हुई सरकार, संक्रमण दौर में, परिवार नियोजन कार्यक्रम - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

सावधान हुई सरकार, संक्रमण दौर में, परिवार नियोजन कार्यक्रम

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo
विनोद मिश्रा
बांदा।
कोरोना संकट के बीच लोगों को परिवार नियोजन कार्यक्रम का बेहतर लाभ दिलाने के लिए सरकार लागातार प्रयास कर रही है। अनलॉक में परिवार नियोजन सेवाओं को बहाल करने के बाद अब इन्हें घर-घर तक नि:शुल्क पहुँचाने का ज़िम्मा भी स्वास्थ्य विभाग ने उठाया है। आशा कार्यकर्ता ‘‘होम डिलेवरी ऑफ कंट्रासेप्टिव थ्रू आशा’’ योजना के तहत गर्भनिरोधक साधनों का मुफ्त में वितरण कर रही हैं। इसके साथ ही क्वारंटाइन सेंटरों में रह रहे प्रवासियों तथा कोरोना प्रारंभिक जांच के लिए ब्लाक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर बने कोविड हेल्प डेस्क पर भी नि:शुल्क गर्भनिरोधक साधन वितरित किये जा रहे हैं। 
गौरतलब है कि अभी तक निःशुल्क सुविधा केवल प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और एएनएम सब सेंटर स्तर पर ही उपलब्ध थी। कार्यकर्ताओं से कंडोम और गर्भनिरोधक गोली घर मंगवाने पर न्यूनतम भुगतान करना पड़ता था। कंडोम व माला एन के लिये 1 रुपये जबकि ईसीपी के लिये 2 रुपये देने पड़ते थे। 
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संतोष कुमार ने बताया- कोरोना महामारी के चलते स्थानीय लोगों और बाहर से आए प्रवासियों को परिवार नियोजन सेवाओं का लाभ लेने में रुकावट आ सकती है। जिससे जनसंख्या विस्फोट का खतरा हो सकता है। इसलिए शासन के निर्देश को प्राथमिकता से लेते हुए चिकित्सा इकाईयों के अलावा आशा कार्यकर्ताओं द्वारा भी गर्भ निरोधक साधन कंडोम, ओरल पिल्स और ई-पिल्स का वितरण शुरू कर दिया गया है। इसके साथ ही जनपद के क्वारंटाइन सेंटरों में रह रहे प्रवासियों को घर भेजते वक़्त उनकी काउन्सलिंग कर उन्हें भी परिवार नियोजन के फायदे बताए जा रहे हैं व नि:शुल्क गर्भनिरोधक साधन दिए जा रहे हैं। जनपद में इस समय दो क्वारंटाइन सेंटर संचालित हैं। ब्लाक पीएचसी पर बने कोविड हेल्प डेस्क के माध्यम से भी इनका मुफ्त वितरण कराया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि सभी चिकित्सा इकाईयों के अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि पहले पुराने स्टॉक को वितरित करवाया जाए। इसके बाद फैमिली प्लानिंग लॉजिस्टिक मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम (एफपी-एलएमआईएस) पोर्टल के जरिये ही ऑनलाइन इंडेंट के माध्यम से चिकित्सा इकाईयों और आशा को सामग्री मिल सकेगी। ऐसा हो जाने से इन सामग्रियों की शत-प्रतिशत उपलब्धता सुनिश्चित कराने में और भी आसानी होगी।