समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कोरोना पर सरकार को घेरा - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कोरोना पर सरकार को घेरा

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि वर्तमान में उत्तर प्रदेश कानून और व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति के कारण कोरोना से पीड़ित है। जिस तरह से कोरोना परीक्षणों को स्थगित किया जा रहा है, उसके कारण वास्तविक स्थिति का पता नहीं चलता है और अब यह नहीं कहा जा सकता है कि कोरोना चोटी कब आएगी। उन्होंने सरकार से सवाल किया है, सरकार कोरोना-पीक से लड़ने की तैयारी कैसे करेगी?

सपा अध्यक्ष ने मंगलवार को कहा कि कोरोना संकट में बंद होने के कारण दूसरे राज्यों से बड़ी संख्या में कार्यकर्ता आए थे। जिन्होंने कहा था कि वे अब गांव में रहेंगे, लेकिन भाजपा सरकार उन्हें रोजगार नहीं दे पाई। अब कार्यकर्ता कह रहे हैं कि उनके गाँव में रहना मुश्किल है। जिस निराशा के साथ वह लौटा वह निराशाजनक था। फिर ये कार्यकर्ता काम की तलाश में मुंबई, सूरत, गुजरात, पंजाब जाने लगे। इन जगहों पर जाने वाली ट्रेनों में जुलाई भर जगह नहीं होती है। अखिलेश ने कहा कि महिला सुरक्षा का दावा करने वाली भाजपा सरकार पूरी तरह से विफल साबित हुई है।

हत्या-बलात्कार के मामले रुक नहीं रहे हैं। अपराधी बेखौफ होकर अपना धंधा चला रहे हैं। बरेली के फरीदपुर में एक छात्र की हत्या कर उसका शव फेंक दिया गया। उन्नाव में एक लड़की का शव मिला था। चित्रकूट में महिला के साथ गैंगरेप किया गया। बरखेड़ा में घर में घुसकर महिला के साथ बलात्कार किया गया। राजधानी लखनऊ के हुसैनगंज में सरेराह महिला के साथ अभद्रता और अश्लील हरकत, तालकटोरा न्यू टेम्पो स्टैंड के पास महिला वकील की चेन लूटने के बाद फरार, कुशीनगर के जबी नरेंद्र गांव में घर में सो रहे पति और पत्नी और दो मासूम बच्चों को बचाने की कोशिश की गई।

सपा प्रमुख ने कहा कि वास्तव में, अपराध अब भाजपा के बस में नहीं है। सत्ता पक्ष के नेता अपनी गुंडई दिखाने में पीछे नहीं हैं। मुख्यमंत्री के अधिकारी एक कान से सुनते हैं और दूसरे के साथ अपनी बात कहते हैं। प्रशासन ने आदर्श वाक्य नीति की गांठ बांध ली है। परिणामस्वरूप, उत्तर प्रदेश अपराधियों की शरणस्थली बन रहा है। उत्तर प्रदेश में समाज का हर वर्ग असुरक्षित और अपमानित महसूस करता है।