HRD मिनिस्ट्री के निर्देश पर NCERT 15 साल बाद पाठ्यक्रम की समीक्षा करेगी - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

HRD मिनिस्ट्री के निर्देश पर NCERT 15 साल बाद पाठ्यक्रम की समीक्षा करेगी

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo

दिल्ली। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कहा है कि स्कूली शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा (NCF) 15 साल बाद बदली जा रही है और नए ढांचे का मसौदा दिसंबर तक तैयार हो जाएगा। वहीं, नया सिलेबस अगले साल मार्च तक तैयार होने की संभावना है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "स्कूली शिक्षा के लिए एक नया पाठ्यक्रम तैयार करने का काम शुरू हो गया है। NCERT से नए पाठ्यक्रम के अनुसार किताबों में आवश्यक बदलाव करने की उम्मीद की जाएगी। विशेषज्ञ स्कूल शिक्षा के लिए इस प्रक्रिया को शुरू करेंगे और एक अंतरिम देंगे। दिसंबर 2020 तक की रिपोर्ट। मार्च 2021 तक नया पाठ्यक्रम तैयार होने की संभावना है। "

मंत्रालय ने राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (NCERT) को निर्देश दिया है कि वह यह सुनिश्चित करने के लिए पाठ्य पुस्तकों में बदलाव करे कि तथ्यों के अलावा इसमें कुछ भी नहीं है। मंत्रालय ने कहा है कि किताबी ज्ञान के लिए किताबी ज्ञान बहुत है। रचनात्मक सोच, जीवन कौशल, भारतीय संस्कृति, कला और अन्य चीजों जैसी अतिरिक्त चीजों को उनमें शामिल किया जाना चाहिए।

NCERT पुस्तकें अब तक केवल पाँच बार बदली हैं, 1975, 1988, 2000 और 2005 में। नए सिलेबस के अनुसार कक्षा एक से 12 वीं तक की सभी पुस्तकों में परिवर्तन होंगे। इसके अलावा, मंत्रालय ने एनसीईआरटी को उन छात्रों के लिए अनुपूरक पाठ्यक्रम सामग्री तैयार करने को कहा है जिनके पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है। मंत्रालय ने एनसीईआरटी को "कोविद -19 महामारी के दौरान पूरक पाठ्यक्रम सामग्री तैयार करने के लिए कहा है, विशेष रूप से उन लोगों के लिए जिनके पास इंटरनेट का उपयोग नहीं है।" NCERT को दिसंबर 2020 तक 1 से 5 वीं कक्षा तक और चरणबद्ध तरीके से 6 से 12 जून तक ऐसी पाठ्य सामग्री तैयार करनी चाहिए।