PM मोदी आज करेंगे 'गरीब कल्याण रोजगार' अभियान की शुरुआत - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

PM मोदी आज करेंगे 'गरीब कल्याण रोजगार' अभियान की शुरुआत

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 जून को गरीब कल्याण रोज़गार अभियान की शुरुआत करेंगे। इससे न केवल गांवों में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, बल्कि गांव के लोगों को सशक्त बनाने और वापस आने वाले प्रवासी श्रमिकों के अलावा आजीविका प्रदान करने में भी मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री शनिवार को सुबह 11 बजे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी की उपस्थिति में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अभियान की शुरुआत करेंगे।

अभियान का शुभारंभ बिहार के खगड़िया जिले के ब्लॉक-बेलदौर के ग्राम तेलिहार से किया जाएगा। इसके अलावा 5 अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री और संबंधित मंत्रालयों के केंद्रीय मंत्री भी इस वर्चुअल लॉन्च में हिस्सा लेंगे। कोविद -19 महामारी के मद्देनजर, 6 राज्यों के 116 जिलों के गांव सामाजिक सेवा के नियमों का पालन करते हुए सार्वजनिक सेवा केंद्रों और कृषि विज्ञान केंद्रों के माध्यम से कार्यक्रम का पालन करेंगे।

सिद्धार्थनगर, प्रयागराज, गोंडा, महाराजगंज, बहराइच, बलरामपुर, जौनपुर, हरदोई, आजमगढ़, बस्ती, गोरखपुर, सुल्तानपुर, कुशीनगर, संतकबीरनगर, बांदा, अंबेडकरनगर, सीतापुर, वाराणसी, गाजीपुर, प्रतापगढ़, रायबरेली, अयोध्या, उन्नाव, उन्नाव, उन्नाव मिर्जापुर, जालौन और कौशाम्बी।

यह 125-दिवसीय अभियान मिशन मोड में चलाया जाएगा। 50 हजार करोड़ रुपये के फंड के साथ, एक तरफ, प्रवासी श्रमिकों को रोजगार प्रदान करने के लिए 25 अलग-अलग तरह के कामों को गहनता और गहनता से लागू किया जाएगा और दूसरी तरफ देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जाएगा।

बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा को इन अभियानों में चुना गया है, जिसमें २१ जिलों के ११६ जिलों के २५ हजार से अधिक प्रवासी कामगारों ने अपनी इच्छा व्यक्त की है। इन जिलों के दो-तिहाई प्रवासी श्रमिकों को लाभ होने का अनुमान है। अभियान 12 विभिन्न मंत्रालयों - ग्रामीण विकास, पंचायती राज, सड़क परिवहन और राजमार्ग, खानों, पीने के पानी और स्वच्छता, पर्यावरण, रेलवे, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, नई और नवीकरणीय ऊर्जा, सीमा सड़क, दूरसंचार और कृषि का समन्वित प्रयास होगा। ।