T-20 World Cup 2020 पर ICC की बैठक में हुआ ये फैसला - AcchiNews.com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम

AcchiNews.Com अच्छी न्यूज़ डॉट कॉम is Hindi Motivational Inspirational quotes site here you can find all positive khabar in hindi.

Earn Money

T-20 World Cup 2020 पर ICC की बैठक में हुआ ये फैसला

Mi सेल लगी मात्र 1 रुपये में कई प्रोडक्ट आपके हो सकते हैं अभी अप्लाई करो www.saleoffer.online Or पाइये paytm 1000 रुपये रिचार्ज आफर https://ift.tt/2OqCzSo

ऑस्ट्रेलिया में इस साल अक्टूबर में शुरू होने वाले टी 20 विश्व कप पर फैसला जुलाई तक के लिए टाल दिया गया है। यह निर्णय दुबई में महत्वपूर्ण आईसीसी की बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लिया गया। पिछली बैठक में 10 जून तक टूर्नामेंट के भविष्य के लिए निर्णय को टाल दिया गया था।

इधर, कर छूट मामले में आईसीसी ने दिसंबर तक बीसीसीआई को मंजूरी दे दी है। ICC ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि इस पर सदस्य देशों के बीच सहमति हुई है कि यह अक्टूबर में पुरुषों के टी 20 विश्व कप और 2021 महिला क्रिकेट विश्व कप के आयोजन के लिए आकस्मिक योजनाओं का पता लगाना जारी रखेगा, लेकिन दोनों टूर्नामेंट की तैयारी कार्यक्रम के अनुसार जारी रहेगी।

अनुसूची के लिए। T20 विश्व कप का आयोजन 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक ऑस्ट्रेलिया में होना है। आपको बता दें कि ये ICC बैठकें हर साल ICC के दुबई मुख्यालय में आयोजित की जाती हैं क्योंकि इसमें पूरे क्रिकेट सत्र का फैसला किया जाता है। यह बैठक पहले 28 मई को आयोजित की जानी थी, लेकिन गोपनीयता भंग होने के मुद्दे के कारण इसे 10 जून तक के लिए स्थगित कर दिया गया था। रिपोर्टों के अनुसार, इस मुद्दे पर एक स्वतंत्र जांच के गठन के बाद मुद्दा समाप्त हो गया। बोर्ड के सदस्यों ने इस मुद्दे को उठाया था कि संगठन की आंतरिक मामलों की गोपनीयता भंग हो गई थी।

ICC ने कम से कम दिसंबर तक कर छूट मुद्दे पर BCCI के साथ रस्साकशी खत्म करने का फैसला किया है। इसके अलावा, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने भारतीय बोर्ड सरकार से कर छूट प्राप्त करने की समय सीमा बढ़ा दी है। यह कर छूट T20 और ODI विश्व कप जैसे ICC टूर्नामेंटों के लिए अनिवार्य है। इस मामले पर दोनों पक्षों के बीच लंबे समय से विवाद चला आ रहा है।

इससे पहले, BCCI ने 30 जून तक IBC (ICC की बिजनेस यूनिट) से पूछा था। हालांकि, ICC ने इस अतिरिक्त समय को देने से इनकार कर दिया। यदि कर छूट प्रदान नहीं की जाती है, तो आईसीसी लगभग $ 100 मिलियन (लगभग 756 करोड़ रुपये) का नुकसान उठा सकता है।